कर्नाटक निकाय चुनाव: कड़ी टक्कर के बाद कांग्रेस ने दर्ज की जीत, देवेगौड़ा ने कहा 'हम सफल हुए'

कर्नाटक निकाय चुनाव: कड़ी टक्कर के बाद कांग्रेस ने दर्ज की जीत, देवेगौड़ा ने कहा 'हम सफल हुए'

बंगलौर: बीजेपी के साथ कड़ी लड़ाई के बाद, कांग्रेस ने सोमवार को कर्नाटक में शहरी स्थानीय निकायों (यूएलबी) में 2662 सीटों में से 982 हासिल करके राज्य में बड़ी जीत दर्ज की. हालांकि गठबंधन में होने के बावजूद पार्टी और जनता दल (सेक्युलर) ने अलग-अलग चुनाव लड़े. राज्य चुनाव आयोग के मुताबिक, बीजेपी ने 929 सीटें हासिल की जबकि जेडी (एस) ने 31 अगस्त को हुए चुनावों में 375 सीटें जीतीं, शेष सीटें स्वतंत्र उम्मीदवारों और अन्यों द्वारा हासिल की गईं.

मध्य प्रदेश चुनाव: क्या भाजपा पर भारी पड़ेगा एससी एसटी एक्ट ?

 

कुल मिलाकर 1,357 सीटों पर कब्जा करने के बाद, कांग्रेस और जेडी (एस) के पास भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ स्पष्ट बढ़त है. परिणाम पर ख़ुशी जताते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बताया कि, "शहर में मतदाता आम तौर पर भाजपा के लिए वोट देते हैं लेकिन इस नतीजे के परिणामस्वरूप अब उन्होंने भी कांग्रेस और जेडी (एस) के नेतृत्व में गठबंधन सरकार के लिए पूर्ण समर्थन दिखाया है."

गाड़ी पर पत्थर फेंकने पर भड़के शिवराज, कहा कांग्रेस मेरे खून की प्यासी हो गई है

जेडी (एस) के प्रमुख एच डी देवेगौड़ा ने कहा, "हम सफल हुए हैं, अब बीजेपी को दूर रखने के लिए जेडी (एस) और कांग्रेस एक साथ काम करेंगे." कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कर्नाटक के श्रमिकों को भी बधाई दी और कहा कि परिणाम दिखाते हैं कि लोगों ने भाजपा के जुमले को खारिज कर दिया है. "कर्नाटक के लोगों ने एक बार फिर शहरी स्थानीय निकायों में नंबर 1 पार्टी बनाकर कांग्रेस में अपना विश्वास दोहराया है, लोगों ने कांग्रेस और जेडीएस सरकार की विकास नीतियों को स्वीकार कर लिया है और भाजपा को ख़ारिज कर दिया है. 

खबरें और भी:-​

मध्य प्रदेश में किसके सिर सजेगा ताज, तय करेगा सोशल मीडिया !

ऑल स्टेट कश्मीरी पंडित कॉन्फ्रेंस का सरकार पर इल्ज़ाम

कारगिल चुनाव : बीजेपी का पहली बार खुला खाता, जानें किस पार्टी को बहुमत मिला

?