सानिया को राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड दिए जाने को चुनौती

Aug 26 2015 07:15 PM
सानिया को राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड दिए जाने को चुनौती

बेंगलुरू। टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा  को राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुना गया लेकिन इसके विरूद्ध कर्नाटक हाईकोर्ट ने याचिका दायर कर दी। जिसमें मामले की सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय ने इस पुरस्कार को सानिया को दिए जाने पर अंतरिम रोक लगा दी।मिली जानकारी के अनुसार भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा  को केंद्र सरकार ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चयनित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय ने खेल रत्न दिएजाने पर रोक लगा दी है। 

दरअसल इस सम्मान को दिए जाने के निर्णय केखिलाफ पैरालिंपिक एथलीट एचएन गिरीशा ने अपना दावा किया। उन्होंने कहा कि सानिया ने वर्ष 2011 से 2014 में एक भी पदक नहीं जीता। फिर उन्हें राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार क्यों दिया जा रहा है। इस दौरान कर्नाटक उच्च न्यायालय ने सानिया मिर्जा को दिए जाने वाले खेल रत्न पर स्टे आॅर्डर दे दिया। मामले में केंद्र सरकार को नोटिस भेज दिया गया। जिसके बाद अब इस पुरस्कार को लेकर ऊहापोह की स्थिति बनती नज़र आरही है। 

उल्लेखनीय है कि सानिया  भारत की ओर से कई ख्यातनाम स्पर्धाओं में भागीदारी कर चुकी हैं। उन्होंने विंबलडन में भी डबल्स चेंपियनशिप जीती। इस प्रतिस्पर्धा में उन्होंने मार्टिना हिंगिस के साथ शानदार खेल का प्रदर्शन किया था। यही नहीं सानिया ने भारत के लिए कई खिताब जीते हैं ऐसे में सानिया को राजीव गांधी खेल रत्न दिया जा सकता है लेकिन एथलीट गिरीशा की मांग पर भी विचार किया जा रहा है। दरअसल माना जा रहा है कि यदि ग्लैमर पा लेने वाले खिलाडि़यों को ही ऐसे श्रेष्ठ अवार्ड प्रदान किए जाते रहे तो दूसरे खिलाडि़यों को निरूत्साहित होना पड़ सकता है।