रेमडेसिविर की कालाबाजारी कर रहे थे बदमाश, पुलिस ने पांच लोगों को किया गिरफ्तार

बेंगलूरु: रेलवे सुरक्षा बल की तरफ से रेलवे संपत्ति (गैर कानूनी कब्जा) अधिनियम के तहत 5 लोगों को हिरासत में लिया है। आरोपी मंडल रेलवे हॉस्पिटल की रेमडेसिविर दवा चोरी और कालाबाजारी कर ऊंची दरों पर विक्रय कर रहे थे। विश्वसनीय जानकारी के आधार पर रेलवे सुरक्षा बल ने छापेमारी की तथा रेलवे की धारा 3 के तहत 5 लोगों को हिरासत में लिया गया। इनमें एक एंबुलेंस चालक समेत चार अन्य कर्मचारी भी सम्मिलित हैं।

वही एक अपराधी रेलवे अस्पताल में डी वर्ग कर्मचारी के रूप में ठेके पर काम करता है। सभी अपराधियों को अदालत में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। अपराधी कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है तथा उनके खिलाफ रेलवे प्रशासन ने अनुशासनात्मक कार्रवाई आरम्भ की है।

साथ ही बैयप्पनहल्ली पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में लिप्त शख्स को हिरासत में लेकर 13 इंजेक्शन बरामद किए। पुलिस के मुताबिक, इलेक्ट्रानिक सिटी में अनंत नगर निवासी मनु (26) कोनप्पन अग्रहार स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल में काम करता था। वह आईसीयू इकाई में एडमिट मरीजों के इंजेक्शन चुरा कर अपने पास रख लेता था। एक इंजेक्शन को 25 हजार रुपए में बेचने की रणनीति बनाई थी। मनु को कग्गादासपुर में एक प्राइवेट हॉस्पिटल के पास इंजेक्शन बेचने की कोशिश करते वक़्त हिरासत में लिया गया। उसके कब्जे से 13 इंजेक्शन जब्त हुए।

दुष्कर्म की कोशिश कर रहा था कलयुगी बाप, बेटी ने लाठी से फोड़ा सिर, मौत

शर्मनाक! कोरोना मरीज के साथ अस्पताल में हुआ सामूहिक दुष्कर्म, राष्ट्रीय महिला आयोग ने की जांच की मांग

दिल्ली एयर कस्टम ने 21 करोड़ रुपये की हेरोइन के साथ केन्याई महिला को किया गिरफ्तार

Most Popular

- Sponsored Advert -