कर्नाटक में बीजेपी की दो दिन की सरकार गिरी

कर्नाटक में चले ड्रामे के बाद अब जाकर बीजेपी की दो दिन की सरकार अब गिर चुकी है, येदियुरप्पा ने बहुमत से पहले अपने इमोशनल भाषण में किसानों का जिक्र किया साथ ही उन्होंने चुनाव में बहुमत नहीं मिलने को लेकर अफ़सोस जताया. कर्नाटक के राजनीतिक गलियारों में चले भारी ड्रामे के बाद आज येदियुरप्पा ने फ्लोर टेस्ट से पहले एक इमोशनल भाषण दिया जिसमें उन्होंने किसानों के बारे में खुद के द्वारा किए गए कामों की चर्चा की.

इसके साथ ही खुद को मुख्यमंत्री बनाए जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी तारीफ की, इस मौके पर येदियुरप्पा काफी भावुक नजर आए साथ ही बहुमत परिक्षण से पहले शुरू हुए इस भाषण में साफ-साफ नजर आ रहा था कि बीजेपी की सरकार गिरने वाली  है, जिसके बाद इस बारे में घोषणा येदियुरप्पा ने ही कर दी.येदियुरप्पा अब राज्यपाल को इस्तीफा सौंपेंगे जिसके बाद मुख्यमंत्री पद की शपथ जेडीएस के कुमार स्वामी लेंगे.

क्या था मामला: दरअसल कर्नाटक में हुए चुनाव में इस तरह के हालातों की मुख्य वजह है त्रिशंकु परिणाम, दो सीटों पर चुनाव रद्द होने के बाद 222 सीटों पर हुए विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिल पाया. कर्नाटक में बीजेपी को 104 सीट, कांग्रेस 78 सीट वहीं जेडीएस को 38 सीटें मिली थी जिसके बाद जेडीएस और कांग्रेस ने गठबंधन कर लिया लेकिन बहुमत नहीं होने के बाद भी राज्यपाल ने सरकार बनाने का न्यौता बीजपी को भेजा तभी से कांग्रेस और जेडीएस के द्वारा सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद यह घमासान शुरू हुआ था.

कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: स्पीकर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

विधायकों को खरीदने की ऑडियो टैप आई सामने, अमित शाह का नाम भी

विधायक छुपाओ ताज बचाओ, क्या है इसका इतिहास ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -