कर्नाटक में दिग्गज कांग्रेस नेताओं ने शहीद जवानों को दी श्रद्धांजलि

कोरोना काल में कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख डीके शिवकुमार, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सिद्धारमैया, दिनेश गुंडू राव और पार्टी के अन्य नेताओं ने गलवन घाटी में भारत-चीन के बीच हुई झड़प में जान गंवाने वाले 20 भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि दी. राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में कांग्रेस, चीन से झड़प में बलिदान देने वाले बलिदानियों को श्रद्धांजलि दे रही है. आपको बता दें कि 15 जून को पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अतिक्रमण को लेकर भारत और चीन की सेनाओं के बीच जारी तनातनी ने हिंसक झड़प का गंभीर रूप ले लिया था.

व्यापार पर पड़ा बॉर्डर पर तनाव का असर, चीन-हांगकांग में रोका गया भारतीय निर्यातकों का माल

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि 10 दिन पहले पूर्वी लद्दाख में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई, इसमें भारत के 20 भारतीय सैनिकों की जान चली गई. वहीं, भारतीय की तरफ से पता चला कि चीनी पक्ष के भी झड़पों में 43 सैनिक मारे गए. भारतीय सेना के पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में विघटन के लिए सोमवार को भारत और चीन के बीच मोल्डो में कोर कमांडर स्तर की वार्ता में, दोनों पक्षों ने आपसी सहमति बनाई है. इस बीच अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने भी चीन को खतरा बताया है.

एक जुलाई से हैदराबाद में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी कर पाएंगे ट्रेनिंग

अपने बयान में उन्होंने कहा कि भारत और दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के लिए खतरा उत्पन्न कर रहे चीन के कारण उनका देश यूरोप से अपनी सेनाएं कम करके अन्य जगहों पर तैनात कर रहा है. पोंपियो से पूछा गया था कि जर्मनी से अमेरिका ने अपनी सेनाएं क्यों कम कर दी हैं. उनका जवाब था-क्योंकि उन्हें अन्य जगहों में भेजा जा रहा है. उन्‍होंने चीन को भारत और दक्षिणपूर्व एशिया के लिए खतरा बताया है. माइक पोंपियो से सवाल किया गया था कि जर्मनी में अमेरिकी सेना की टुकड़ी को क्यों घटा दिया गया. माइक ने कहा कि वहां से हटाकर सेना को दूसरी जगह तैनात किया जा रहा है. इससे एक बात साफ है कि अब चीन के खतरे से निपटने के लिए मेरिकी सेना की तैनाती हो सकती है.

ट्रेन टिकट कैंसिल करना हुआ बेहद आसान, बस एक फ़ोन पर हो जाएगा आपका काम

प्रिंसिपल ने बच्चों को पढ़ाने के लिए निकाला अनोखा तरीका, पढ़े दिलचस्प खबर

यूपी-बिहार में आसमान से बरसी मौत, 107 लोगों की दर्दनाक मौत, अगले 72 घंटे भारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -