ऐसे सिद्ध होगा बीजेपी का बहुमत

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला की तरफ से सरकार बनाने का निमंत्रण मिलने के बाद  बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के नए सीएम पद की शपथ ली. राज्यपाल वजुभाई वाला ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई. येदुरप्पा ने किसान और भगवान के नाम पर शपथ ग्रहण की.  गौरतलब है कि कल देर रात सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक भाजपा को बड़ी राहत देते हुए येदियुरप्पा की शपथ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था .अब बीजेपी के पास बहुमत साबित करने के लिए विधायकों की पर्याप्त संख्या नहीं है.

विपक्षी दलों के उन लिंगायत विधायकों से बीजेपी उम्मीद बंध गई है जो कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन से नाराज बताए जा रहे हैं क्योंकि इसका मुखिया वोकलिंगा समुदाय के कुमारस्वामी को बनाया गया है. कांग्रेस और जेडीएस के करीब दर्जन भर लिंगायत विधायक अपने समुदाय के येदियुरप्पा का साथ दे सकते है.

कांग्रेस की तरफ से अल्पसंख्यक समुदाय का कार्ड चलने के बावजूद लिंगायत समुदाय ने चुनावों में बड़े पैमाने पर बीजेपी का साथ दिया. वोकलिंगा और लिंगायत समुदाय में 2007 में बीजेपी के साथ कार्यकाल बंटवारे के गठबंधन के बावजूद सीएम की कुर्सी छोड़ने से इनकार को लेकर मनमुटाव चला आ रहा है. मामला दिलचस्प हो गया है और समय 15 दिन का है. इस बीच कांग्रेस और जेडीएस अपने अपने विधायकों को महफूज रखने में जुटी है.  

येदियुरप्‍पा ने सीएम पद की शपथ ली

मनमोहन सिंह और तेजस्वी पर मोदी का तीखा प्रहार

कुमारस्‍वामी ने कहा, कर्नाटक में राज्‍यपाल ने केंद्र से मिलकर गुजराती बिजनेस किया

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -