करनाल में किसानों का धरना ख़त्म, लाठीचार्ज मामले की जांच के आश्वासन के बाद लिया फैसला

करनाल: हरियाणा के करनाल में बीते 6 दिनों से धरने पर बैठे किसानों ने आज अपना प्रदर्शन खत्म करने का निर्णय लिया है. हरियाणा भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के चीफ गुरुचरण सिंह चढ़ूनी ने कहा है कि हम सभी ने प्रशासन से बात करने और उनसे मिले आश्वासन के बाद अपना धरना खत्म करने का फैसला लिया है.

करनाल में धरना दे रहे किसानों ने प्रशासन के साथ एक प्रेस वार्ता की. प्रेस वार्ता में बताया कि दोनों पक्षों के बीच सहमति बन गई है. किसानों ने धरना खत्म करने का फैसला लिया है. 28 अगस्त को लाठीचार्ज वाली घटना की न्यायिक जांच की जाएगी. गौरतलब है कि इससे पहले किसानों ने प्रशासन को 11 सितंबर के बाद आंदोलन उग्र करने की चेतावनी दी थी. गुरुवार से मिनी सचिवालय के बाहर किसान धरना दे रहे थे. करनाल में डटे किसानों की मांग थी कि 28 अगस्त को किसानों पर लाठीचार्ज का आदेश देने वाले SDM पर एक्शन लिया जाए, किन्तु सरकार का कहना है कि जांच के बाद जो दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई होगी और किसानों की भूमिका की भी जांच होगी.

बता दें कि, 28 अगस्त को कथित तौर पर SDM को पुलिसकर्मियों से यह कहते हुए सुना गया था कि अगर किसान सीमा पार करते हैं तो किसानों का "सिर फोड़" दें. किसानों ने दावा किया था कि 28 अगस्त की हिंसा के बाद एक किसान की जान चली गई, हालांकि प्रशासन ने इस आरोप को सिरे से खारिज कर दिया था.

केरल में कोरोना बनता जा रहा और भी घातक, हर दिन बड़े पैमाने पर सामने आ रहे है संक्रमण के मामले

पैन-आधार लिंक करवाने की अंतिम तारीख नजदीक, जानिए पूरी प्रक्रिया

जारी हुए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आज का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -