कारगिल विजय दिवस: जब भारत के खिलाफ जंग लड़ने पहुंच गए थे शोएब अख्तर..

कारगिल विजय दिवस: जब भारत के खिलाफ जंग लड़ने पहुंच गए थे शोएब अख्तर..
Share:

इस्लामाबाद: पूरा भारत आज यानी 26 जुलाई को करगिल विजय दिवस मना रहा है. 23 वर्ष पूर्व भारतीय सेना ने करगिल युद्ध में पाकिस्तान को धुल चटाई थी. कारगिल युद्ध 60 दिन से अधिक चला था. इस जंग को ऑपरेशन विजय नाम दिया गया. इस युद्ध में पाकिस्तान से लड़ते हुए भारत के 527 जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे. इस युद्ध से खेल और खासकर क्रिकेट भी अछूता नहीं रहा था. दोनों ओर से कई खिलाड़ियों ने इस पर बयान दिए थे. इन्हीं खिलाड़ियों में एक नाम पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का भी है. उन्होंने दो साल पहले पाकिस्तानी न्यूज चैनल ARY पर कहा था कि वह दो दफा भारत के खिलाफ कारगिल में जंग लड़ने गए थे, किन्तु उन्हें मौका नहीं दिया गया.

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने कहा कि, 'मेरी देशभक्ति पर किसी को संदेह नहीं होना चाहिए. काफी कम लोगों को  पता है कि उस जमाने में नॉटिंघम काउंटी क्लब के साथ मेरा पौने दो लाख पाउंड का एक कॉन्ट्रैक्ट हुआ था. 2002 में इससे भी बड़ा करार हुआ, मगर जब कारगिल युद्ध हुआ, तो मैं यह दोनों ही छोड़कर पाकिस्तान आ गया था.' अख्तर ने आगे कहा कि, 'मैं लाहौर में आकर खड़ा हो गया था. हाजी जनरल मेरे साथ आए कहा कि तू यहां क्या कर रहा है. मैंने कहा कि युद्ध शुरू होने वाला है. मरेंगे तो साथ ही मरेंगे. देख लेंगे सबको. काउंटी सीजन छोड़कर वापस आया. मैं दो बार लड़ने के लिए गया था.'

यही नहीं भारत के खिलाफ लड़ने के लिए शोएब अख्तर ने कश्मीर में भी अपने दोस्तों को फोन लगाकर हथियार तैयार रखने को कहा था. उन्होंने कहा कि, 'मैंने कश्मीर के दोस्तों को फोन किया कि जो भी तैयार (हथियार) हैं, रखो, मैं आ गया हूं. मेरी पत्नी ने हाथ जोड़कर कहा कि खुदा के वास्ते रहने दीजिए. भारत का हमला हुआ. बहुत नुकसान हुआ. मैं सुबह उठा तो मुझे चक्कर आना शुरू हो गए थे. पत्नी ने कहा कि कोई टेंशन मत लो. मैं टेंशन में लोगों से लड़ रहा था.'

Ind Vs WI: टीम इंडिया के पास इतिहास रचने का मौका, बस विंडीज के खिलाफ करना होगा ये काम

'ODI को 50 ओवर से घटाकर 40 ओवर का कर दिया जाए..', दो दिग्गज क्रिकेटरों ने दिया सुझाव

धोनी की मुश्किलें बढ़ीं, सुप्रीम कोर्ट ने माही को जारी किया नोटिस.., जानिए पूरा मामला

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -