'इस्लाम ही एकमात्र समाधान है...', कानपुर के दूकानदार की पर्ची वायरल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कानपुर स्थित कुछ कारोबारी व्यापारिक प्रतिष्ठानों के जरिए जिहादी विचारधारा फैलाने का काम कर रहे हैं। ये लोग इस्लामी धर्मांतरण को बढ़ावा देने वाले IAS इफ्तिखारुद्दीन से प्रेरित बताए जा रहे हैं। बता दें कि इफ्तिखारुद्दीन कानपुर मंडल के आयुक्त और ‘राज्य परिवहन निगम’ के अध्यक्ष रह चुके हैं। कानपुर के ये दुकानदार ग्राहकों को जो बिल दे रहे हैं, उस पर लिखा है – ‘Islam Is The Only Solution’, यानी इस्लाम ही एकमात्र समाधान है।

 

पता चला है कि कानपुर के ये दुकानदार बिल का इस्तेमाल, इस्लाम के प्रचार-प्रसार में कर रहे हैं। बिल पर इस्लामी संदेश लिखकर ग्राहकों को दिया जा रहा है। पुलिस कमिश्नर ने लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) को ऐसे मामलों का पता लगाने का जिम्मा सौंपा है। बिल की जो पर्ची सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, उसमें उस पर व्यापारिक प्रतिष्ठान के नाम के स्थान पर दुकानदार ने अपना मोबाइल नंबर दे रखा है और समान की लिस्ट और कुल भाव के बाद इस्लामी संदेश लिखा है। बता दें कि पूर्व IAS इफ्तिखारुद्दीन भी इसी नारे का इस्तेमाल करते रहे हैं। पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया है कि मामले को संज्ञान में लेकर उक्त व्यक्ति की शनाख्त कर ली गई है। उन्होंने सख्त कार्रवाई का आश्वासन भी दिया है। ऐसे अन्य लोगों का भी पता लगाया जा रहा है।

हालाँकि, फिलहाल पर्ची पर दर्ज मोबाइल नंबर स्विच ऑफ आ रहा है। ये पर्ची मेस्टन रोड स्थित एक रबड़ दुकान की है, जिसने पर्ची के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद अपना मोबाइल नंबर बंद कर दिया है। पता चला है कि ये कारोबारी ‘हसीन एन्ड कंपनी इंडिया’ का है, जो कानपुर में गाय, भैंस और बकरी की चमड़ी, दुकानदारों को बेचने का काम करता है। इसका पता मेस्टन रोड का बिसाती बाजार दिया गया है। इस कंपनी में 5-10 कर्मचारी काम करते हैं। ये ड्राई रबर कंटेन्ट और गए, भैंस व बकरे की कच्ची चमड़ी व इससे बने चमड़े की डिलीवरी करता है। बता दें कि, भारत जैसे देश में जहां के लोग 'सर्व धर्म समभाव' में विश्वास करते हैं और ये मानते हैं कि मनुष्य विभिन्न मार्गों द्वारा ईश्वर तक पहुंच सकता है, वहां इस तरह के मामले सामने आना देश की सम्प्रभुता और आपसी भाईचारे को खतरा है।  क्योंकि विवाद तभी शुरू होगा, जब कोई भी अपने आप को दूसरे से श्रेष्ठ साबित करने की कोशिश करेगा, जबकि भारत में सभी धर्मों का सम्मान किया जाता है।  

श्रीलंका के मंत्री नमल राजपक्षे ने की पीएम मोदी से मुलाकात

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने जम्मू-कश्मीर में कई जगहों पर की छापेमारी

क्रिप्टोक्यूरेंसी की कीमतों में आया इतने प्रतिशत उछाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -