ट्वीटर पर शुरू हुआ कोरोना जिहाद, निशाने पर आईं कनिका कपूर

ट्वीटर पर शुरू हुआ कोरोना जिहाद, निशाने पर आईं कनिका कपूर

इस समय एक तरफ जहाँ पूरा देश कोरोना वायरस से लड़ रहा है वहीं दूसरी तरफ कोरोना जिहाद शुरू हो गया है. जी हाँ, आप जानते ही हैं इस समय देश में कोरोना से बचाव और सुरक्षा के लिए ढेर सारे कदम उठाए जा रहे हैं और इस बीच अब ये बीमारी हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच एक और लड़ाई का विषय बन चुकी है. जी हाँ, इस समय मुद्दा इस बात को बनाया गया है कि कौन कोरोना ज़्यादा फैला रहा है - हिंदू या मुस्लिम। हाल ही में इस लड़ाई के बीच अब कनिका कपूर आ चुकीं हैं और कोरोना क्रिमिनल और तबलीगी जमात उन्हें बना दिया गया है. इस समय ट्विटर पर लोग कनिका को दोषी ठहराने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। जी हाँ, कनिका को लोगों ने अपने निशाने पर ले लिया है.

वैसे आप सभी को यह भी बता दें कि ये सारा मुद्दा शुरू हुआ तब जब तबलीगी जमात के कारण देश में 400 नए कोरोना केस हो सकते हैं वहीं 6 लोगों की जान चली गई हैं, ऐसा कहा गया. अब इसके बाद कहा गया कि इस जमात में शामिल सभी लोगों के खिलाफ FIR होनी चाहिए, जिससे मुद्दा और गर्म हो गया.

आपको पता ही होगा अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी ने भी इस बात का समर्थन किया कि, 'जब सरकार ने 13 मार्च से ही आदेश दे दिए थे कि कहीं भी 10 से ज़्यादा लोग इकट्ठा नहीं होंगे तो तबलीगी जमात में 1000 लोग कैसे शामिल थे।' वहीं अगर आप इस बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपको बता दें कि ये मुस्लिम समुदाय का एक तरह से जलसा होता है जहां सब इकट्ठे होकर धर्म का पालन करते हुए कुछ नई सीख लेते हुए। यह जलसा निकलने के बाद से कोरोना जिहाद शुरू हो गया है और लोग ट्वीटर पर आपस में भिड़ गए हैं.

अब ट्विटर पर कनिका कपूर को निशाने पर लेकर एक के बाद एक अजीबोगरीब आरोप लगाए हैं. एक यूजर ने कहा - 'जब दूसरे समुदाय की बात आती है जिन्होंने यही गलतियां कीं तो उन समुदायों पर इस तरह उंगली नहीं उठाई जाती है जैसे कि मुस्लिमों पर। तिरूपति बालाजी में 40 हज़ार लोग इकट्ठा हुए उन पर कोई बात नहीं हुई। लोग जनता कर्फ्यू में सड़कों पर उतरकर थाली पीट रहे थे उस पर कोई बात नहीं हुई। कनिका कपूर इतने सारे लोगों के साथ पार्टी कर रही थीं, उस पर भी कोई बात नहीं हुई।' वहीं एक अन्य यूजर ने कहा- 'जो लोग तबलीगी जमात को अरेस्ट करने के लिए आवाज़ उठा रहे हैं, उन्हें उन लोगों के अरेस्ट के लिए भी आवाज़ उठानी चाहिए थी जो कनिका कपूर की पार्टी में शामिल थे। इसके साथ ही वो 700 सांसद भी जो दूरी बनाने की अपील करने की बजाय संसद सदन में बैठे थे।' इसी के साथ एक अन्य यूजर ने लिखा, '#TablighiJamat बेशक बहुत बड़ी गलती और लापरवाही है । पर ये खबर कल ही आई है। इससे पहले जो मामले आए वो सब कौन सी जमात से आए थे भई? #KanikaKapoor किस #जमात से positive हुई?' इस तरह कनिका को निशाने पर लेकर कोरोना जिहाद शुरू हो चुका है.

अक्षय, सलमान के बाद आलिया भट्ट ने पीएम केयर फंड में किया दान

फैन के दान देने के सवाल पर भड़की यह एक्ट्रेस, कहा- 'चिंदी ज्ञान देना बंद करो'

अक्षय, सलमान के बाद आलिया भट्ट ने पीएम केयर फंड में किया दान