'कोई एक गाल पर मारे तो दूसरा आगे कर दो..,' कंगना बोली- ऐसे भीख मिलती है, आज़ादी नहीं

मुंबई: फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत ने ‘1947 में भीख में आज़ादी’ वाले अपने बयान को फिर दोहराया है। कंगना ने एक पुरानी खबर शेयर की, जिसमें लिखा है कि किस प्रकार महात्मा गाँधी इस बात को लेकर सहमत हो गए थे कि यदि सुभाष चंद्र बोस मिलते हैं तो उन्हें अंग्रेजों के हवाले कर दिया जाएगा। कंगना रनौत ने लिखा कि, 'जिन्होंने सच में आज़ादी की जंग लड़ी, उन्हें उन लोगों ने अपने मालिकों को सौंप दिया, जिनके खून में वो साहस, गर्मी और आग नहीं ही कि वो आज़ादी के लिए लड़ सकें।'

कंगना रनौत ने आगे लिखा कि भारतीयों पर जुल्म करने वालों के खिलाफ लड़ने का साहस न रखने वाले कुछ नेता सत्ता के भूखे थे, धूर्त थे। उन्होंने लिखा कि ऐसे ही लोगों ने हमें सिखाया कि यदि कोई तुम्हारे एक गाल पर चांटा मारे, तो दूसरा गाल आगे कर दो, ऐसे ही आज़ादी मिलेगी। कंगना रनौत ने लिखा कि आज़ादी ऐसे नहीं मिलती है, बल्कि इस प्रकार से केवल भीख ही मिल सकती है। साथ ही उन्होंने लोगों को अपने नायकों को अच्छे से चुनने की हिदायत दी।

कंगना रनौत ने दावा करते हुए कहा कि बापू ने कभी भी भगत सिंह या नेताजी सुभाष चंद्र बोस का समर्थन नहीं किया। अभिनेत्री ने दावा किया कि ऐसे प्रमाण मौजूद हैं, जो बताते हैं कि महात्मा गाँधी चाहते थे कि भगत सिंह को फाँसी दे दी जाए। उन्होंने लोगों से कहा कि आपको चुनने की आवश्यकता है कि आप किसे अपना आदर्श मानते हैं, किसका समर्थन करते हैं। कंगना रनौत ने लिखा कि इन सभी को अपनी याद में एक साथ रखना और प्रति वर्ष उनकी जयंती पर समरण करना ही पर्याप्त नहीं है।

बॉलीवुड में नहीं OTT प्लेटफॉर्म्स पर अपनी धाक जमा चुके है ये कलाकार

तैमूर को लेकर पिता सैफ अली खान ने किया हैरतअंगेज खुलासा, कहा- वो गंदा आदमी...

इस कारण विक्की-कैटरीना की शादी में शरीक नहीं होंगे सलमान खान!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -