रिलीज होते ही विवादों में घिरी कंगना रनौत की ‘Thalaivii’

मनोरंजन जगत की मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनौत की फिल्म ‘थलाइवी’, जो तमिलनाडु की पूर्व सीएम जे। जयललिता के जीवन पर आधारित है, वह कल मतलब 10 सितंबर को ही रिलीज हुई है तथा अब इस मूवी को लेकर एक नया विवाद खड़ा हो गया है। मूवी के रिलीज होने के पश्चात् AIADMK के नेता तथा पूर्व मंत्री डी। जयकुमार ने कहा कि जयललिता की बायोपिक में कुछ तथ्य सही नहीं दिए गए हैं।

वही एएल। विजय द्वारा डायरेक्टेड तथा अरविंद स्वामी द्वारा अभिनीत फिल्म थलाइवी जयकुमार ने शुक्रवार को चेन्नई के थिएटर में देखी। यहां मूवी देखने के पश्चात् जयकुमार ने रिपोटर्स से चर्चा करते हुए कहा कि वैसे तो फिल्म को बहुत ही अच्छे से बनाया गया है, मगर इसमें कुछ सीन जो पूर्व सीएम जयललिता तथा AIADMK के संस्थापक तथा नेता दिवंगत एमजी रामचंद्रन पर फिल्माए गए हैं, उनके तथ्य सही नहीं हैं। 

बता दे कि फिल्म में एक सीन है, जहां पर सीएन अन्नादुरई के नेतृत्व में बनने वाली DMK पार्टी की पहली सरकार में एमजी रामचंद्रन सीएम बनने की मांग करते हैं। जयकुमार ने इस सीन को लेकर बोला कि एमजीआर ने कभी भी उस जगह को पाने की मांग नहीं की थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जयकुमार ने कहा कि अन्नादुरई चाहते थे कि MGR मंत्री बनें, किन्तु उन्होंने स्वयं ही इसके लिए इंकार कर दिया था तथा फिर बाद में उन्हें स्मॉल सेविंग्स डिपार्टमेंट का डिप्टी चीफ बना दिया गया था, जो एक नई पोस्ट थी। 1969 में जब अन्नादुरई का देहांत हो गया, तब एमजीआर ने ही करुणानिधी को सीएम बनाने के लिए उनके नाम का प्रस्ताव रखा था।

'आपके गाने सुनने से अच्छा जहर खा लूं', टोनी कक्कड़ का गाना सुनकर बोला यूजर

मां के निधन के बाद परिवार के साथ नजर आए अक्षय कुमार

Thalaivi Review: जयललिता की बायोपिक में सबकी ‘अम्मा’ साबित हुईं कंगना रनौत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -