आलोचनाओं पर बोलीं कंगना, कहा- ये मुझे कड़वा नहीं बनाती

आलोचनाओं पर बोलीं कंगना, कहा- ये मुझे कड़वा नहीं बनाती

बॉलीवुड में नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) के खिलाफ अपने आवाज बुलंद करने वाली बॉलीवुड की क्वीन यानी कि एक्ट्रेस कंगना रनौत का यह मानना है कि जब तक उनकी नीयत सही है, तब तक उन्हें अपने द्वारा कही गई बातों का बुरा नहीं लगता हैं. हाल ही में कंगना ने आईएएनएस से बात की हैं.

कंगना ने आईएएनएस से बात करते हुए बताया है कि, "मैं जब भी किसी बुराई के खिलाफ कुछ कहती हूं, तो मैं हमेशा इस बात को देखती हूं कि मेरा इरादा क्या है.""आलोचना मुझे कड़वा नहीं बनाती है और नेपोटिज्म, यौन शोषण, असमानता प्रेरित भुगतान और सभी प्रकार का बुरा व्यवहार जो कि एक बाहरी व्यक्ति को बॉलीवुड में सहना पड़ता है, जब भी मैंने इसे लेकर बात की है और नाम उजागर किए हैं, ये सभी बातें मेरे करियर के खिलाफ ही गईं है. हालांकि कोई भी इन बातों को नजरअंदाज नहीं कर सकता है"

आपको इस बात से अवगत करा दें कि कंगना उस समय विवादों में घिर गई थीं, जब उन्होंने मशहूर फिल्म निर्माता करण जौहर को उन्हीं के टेलीविजन चैट शो में कहा था कि वे ही 'नेपोटिज्म के ध्वजवाहक हैं." यह एपिसोड और खबर उस समय काफी चर्चाओं में रहा था. बता दें कि कंगना की आगामी फिल्म पंगा और थलाईवी है. 

 

सिद्धार्थ के हाथ से निकला 'एक विलेन' का सीक्वल, इस एक्टर को मिली फिल्म!

फिर शर्टलेस हुए रणवीर सिंह, फैंस फिर हुए बॉडी पर फ़िदा

सड़क पर वर्कआउट करती दिखी अमिताभ की नातिन, वायरल हो रहा वीडियो

तख़्त की शूटिंग शुरू होने से पहले आलिया ने शेयर की यह ख़ास फोटो