बैठक के दौरान सीएम कमलनाथ ने की विधायकों से मन की बात

भोपाल : लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद कांग्रेस विधायक दल की रविवार को हुई बैठक में सरकार की स्थिरता को लेकर चिंतन हुआ। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायकों के साथ भाजपा के ‘अल्पमत की सरकार’ के आरोपों पर चर्चा की। उन्होंने दो टूक कहा कि सरकार को कभी लंगड़ी-लूली तो कभी अल्पमत में बताया जा रहा है। आप लोगों ने मुझे विधायक दल का नेता चुना, मुख्यमंत्री बनाया, अब आप ही निर्णय करें कि क्या मैं चेयर छोड़ दूं। 

केंद्र सरकार ने जेटली का स्वास्थ्य बिगड़ने खबरों को बताया गलत

अफवाहों से सावधान रहने पर चेताया 

इसी के साथ उन्होंने कहा- झूठी सूचनाओं पर आधारित वीडियो, आडियो सोशल मीडिया पर चलाए जा रहे हैं। इनसे सावधान रहें और दूसरों को भी सावधान रखें। इस पर निर्दलीय, सपा, बसपा और कांग्रेस के सभी विधायकों ने एकजुट होकर कहा कि हमें आप पर भरोसा है। आप चाहें तो विधानसभा में फ्लोर टेस्ट करा लें। राज्यपाल के यहां परेड के लिए भी हम तैयार हैं। 

सपा को नहीं दिया वोट, तो बदमाशों ने लाठी डंडों से पीटा

जानकारी के मुताबिक बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, सुरेश पचौरी, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया और छिंदवाड़ा लोकसभा से प्रदेश के इकलौते सांसद नकुल नाथ भी शामिल हुए। इसी के साथ आरिफ मसूद, हरदीप सिंह डंग, कुणाल चौधरी मंच के करीब पहुंचे। कहा- हम टेस्ट के लिए तैयार हैं। इससे पहले सुबह कैबिनेट की अनौपचारिक बैठक में भी सरकार की स्थिरता को लेकर चल रही खबरों का मुद्दा उठा तो मंत्रियों ने सीएम को भरोसा दिलाया कि सरकार स्थिर रहेगी।

जिसने भाजपा कार्यकर्ता की हत्या की, उसे पाताल से भी ढूंढ निकालेंगे - स्मृति ईरानी

सिद्धू और अमरिंदर के बीच सियासी जंग तेज, राहुल गाँधी तक पहुँच सकती है शिकायत

आज सिक्किम के नए मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे पीएस गोलाय

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -