एमपी के नए कमल तो बन गए 'नाथ', क्या अब इन बड़ी चुनौतियों समेत 10 दिनों में कर्ज होगा माफ़ ?

Dec 17 2018 04:38 PM
एमपी के नए कमल तो बन गए 'नाथ', क्या अब इन बड़ी चुनौतियों समेत 10 दिनों में कर्ज होगा माफ़ ?

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में आज कमलनाथ ने भोपाल में जंबूरी मैदान में शपथ ले ली. इस दौरान राहुल गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई विपक्षी दलों के नेता मौजूद रहें. अब इसके साथ कमलनाथ के सामने अपने वचन निभाने की चुनौती खड़ी हो गई हैं. इसमें कमलनाथ के सामने जो सबसे बड़ी चुनौती है वो है किसानों की कर्जमाफी और बेरोजगारों युवाओं को महंगाई भत्ता देने की. बता दें कि कांग्रेस अधयक्ष राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि अगर एमपी में कांग्रेस की सरकार आती हैं तो 10 दिनों में किसानों का कर्ज माफ़ हो जाएगा. 

चुनाव से पहले किसानों के मुद्दे पर बीजेपी को को घेरने वाली कांग्रेस आज किसानों की मदद से सत्ता के सिंहासन पर काबिज हो चुकी है. कमलनाथ ने अपने वादों के साथ प्रदेश की कमान संभाल ली हैं. सत्ता संभालने के साथ ही अब कमलनाथ के ऊपर वादे पूरे करने की बड़ी चुनौती आ गई है. इसलिए वादे पूरे करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर खाका भी तैयार हो चुका है.

प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, कर्जमाफी के लिए कांग्रेस ने प्लान तैयार कर लिया हैं और वह अपने वादों के मुताबिक़, इसमें कतई देरी नहीं चाहती हैं. बता दें कि कर्जमाफी से मौजूदा और डिफाल्टर किसानों को भी फायदा होगा. सहकारी के साथ ही राष्ट्रीय बैंकों से भी इस बारे में चर्चा की गई है. साथ ही कमलनाथ के समक्ष 23 लाख बेरोजगारों को भी सौगात देने की चुनौती होगी. जानकारी मिली हैं कि कमलनाथ बेरोजगारों को 4 हजार महीना भत्ता देने की घोषणा भी कर सकते हैं. 

शिवराज के सामने खिला 'कांग्रेस का कमल', संतों और विपक्षी दलों के बीच कमलनाथ की शपथ

सिख दंगा: सज्जन कुमार को मिली सजा पर बोले जेटली, दूसरे दोषी को आज सीएम बना रही कांग्रेस

भोपाल : आज शपथ ग्रहण में नहीं आएँगी ममता बनर्जी

श​शि थरूर ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी की तरह कमल नाथ को भी मिलना चाहिए संदेह का लाभ