कमलनाथ बने 'कृष्ण' तो 'सुदर्शन' लिए दिखे लालू, राजनेतओं के पोस्टर में फिर हिन्दू भगवानों का अपमान

भोपाल: मध्‍य प्रदेश की सियासत में एक बार फिर कांग्रेस के पोस्टर पॉलिटिक्स से हिन्दू धर्म के अपमान का नया बखेड़ा खड़ा हो गया है। राज्य की राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस कार्यालय के बाहर लगे पोस्टर में पूर्व सीएम कमलनाथ को ‘कृष्ण’ तो वहीं, सीएम शिवराज सिंह चौहान को ‘कंस मामा’ के रूप में दर्शाया गया है। इस पोस्टर के सामने आने के बाद से ही सियासी गलियारों में हंगामा मच गया है। जहाँ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं ने इसे हिंदू धर्म का अपमान करार दिया है। वहीं, पोस्टर लगाने वाले कांग्रेस नेता का कहना है कि राज्य की स्थिति फ़िलहाल ऐसी ही है। वहीं एक दूसरे मामले में चारा घोटाले के दोषी लालू यादव को भी ‘चक्रधारी कृष्ण’ के रूप में दर्शाया गया है।

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस नेता शहयार खान ने कहा कि भोपाल में पार्टी कार्यालय के बाहर पोस्टर लगाया गया था, जिसमें कमलनाथ को ‘कृष्ण’ के रूप में दर्शाया गया था। इस पोस्टर के लिए लोग कमलनाथ से 2023 के चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने की गुहार लगा रहे हैं। शहरयार खान ने गीता के ही कथन को उद्धृत करते हुए आगे कहा कि, 'जब धरती पर पाप बढ़ता है तो भगवान किसी को भेजते हैं… कमलनाथ तो विकास पुरुष हैं। उनका छिंदवाड़ा मॉडल प्रदेश में विकास की आदर्श मिसाल है, जबकि सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यहाँ कुछ खास नहीं किया।'

 

इस मुद्दे को लेकर राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए कहा कि, 'कांग्रेस हमेशा हिन्दू धर्म का मजाक उड़ाती है। कभी सोनिया गाँधी को दुर्गा बताते हैं, तो कभी कमलनाथ को कृष्ण। कांग्रेस ने हमेशा ही धर्म का मजाक बनाया है। कांग्रेसी हर दिन ऐसा काम करते हैं जिससे मूल राष्ट्रवाद और हिंदू अनुयायियों की धार्मिक भावना आहत हो। यह महान भारत को बदनाम भारत कहते हैं, यह उनकी सोच को प्रदर्शित करता है।'

पोस्‍टर में हाथ में चक्र धारण किए कमलनाथ कृष्ण के रूप में दिखाई दे रहे हैं। जबकि तत्कालीन कांग्रेस सरकार में हुए फैसलों को भी पोस्टर में स्थान देते हुए कई दावे किए गए हैं। जैसे- होर्डिंग में कमलनाथ सरकार में लिए गए OBC को 27 फीसदी और सामान्य को 10 फीसदी आरक्षण देने के अतिरिक्त 27 लाख से अधिक किसानों का कर्जा माफ करने के साथ 100 रुपए में 100 यूनिट बिजली प्रदान करने जैसे कई दावों को शामिल किया गया है। दूसरा मामला बिहार का है जहाँ चारा घोटाले के दोषी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को भी ‘कृष्ण’ के रूप में चित्रित किया गया है। उनकी मूर्ति जैसी तस्वीर को कोई और नहीं लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने अपने फेसबुक पेज ‘सेकेंड लालू तेजप्रताप’ पर साझा किया है। इसमें लालू प्रसाद हाथ में चक्र धारण किए हुए हैं और उनके दूसरे हाथ में बाँसुरी है। फोटो में लालू प्रसाद के गले में तीन माला भी नज़र आ रही है। लालू प्रसाद पैर पर पैर रखकर अपने पुराने अंदाज में बैठे नजर आ रहे हैं। दिलचस्प बात यह कि लालू प्रसाद ने अपना पसंदीदा पहनावा कुर्ता पायजामा पहना हुआ है और बालों का स्टाइल भी वही हमेशा वाला है।

भाजपा ने सावंत सरकार को बर्खास्त करने की गोवा कांग्रेस की मांग को किया खारिज

खाद्य संकट गंभीर होने पर श्रीलंका ने आर्थिक आपातकाल की घोषणा की

कोरियाई युद्ध में मारे गए चीनी सैनिकों के अवशेष को ताबूत में रखा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -