CM शिवराज पर कमलनाथ का हमला, बोले- 'जब सब जनता को ही करना है तो फिर सरकार का क्या फायदा?'

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान की जनता से आंगनवाड़ियों से जुड़ने की अपील पर कमलनाथ ने हमला बोला है। कमलनाथ ने सीएम का नाम लेकर बोला कि आपने खजाना अपने इंवेंट पर लूटा दिया तथा युवाओं से कह रहे हो कि ठेला लेकर निकलें। जब लोगों को सब करना है तो फिर सरकार का क्या मतलब?
 
कमलनाथ ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को संबोधित करते हुए कहा कि आपने राज्य के पूरे खजाने को इवेंट, आयोजन, अभियान, स्वयं के प्रचार-प्रसार, महिमा मंडन पर लूटा दिया तथा अब राज्य के लोगों के हाथ में ठेला पकड़ाना चाहते है। कमलनाथ ने कहा कि कम से कम सच्चाई स्वीकारे, अपनी नाकामी स्वीकारे। जो सरकार हाथ खड़े कर जनता से मदद मांगे, अपनी जिम्मेदारियों से भागे, उसी से समझा जा सकता है कि उस सरकार को पद पर बने रहने का कोई हक़ नहीं है तथा ऐसी सरकार को तो तत्काल हट जाना चाहिए। कमलनाथ ने बोला कि जब सब जनता को ही करना है तो फिर सरकार का क्या लाभ? सरकार हट जाए, जनता खुद सब कर लेगी।
 
कमलनाथ ने सवाल किया कि आपकी पाटी की मध्य प्रदेश में बीते 17 सालों से सरकार है। क्या वजह है कि आज भी कुपोषण की संख्या भयावह बनी हुई है तथा कुपोषण के मामले में मध्यप्रदेश आज भी देश में शीर्ष पर है। दूर करने के नाम पर प्राप्त हुआ करोड़ो का बजट भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। आज भी राज्य की हज़ारों आंगनवाडियो में बिजली, पीने का पानी,शौचालय,मेडिकल- शिक्षा किट तक नही है। हाल ही में आपकी सरकार ने विधानसभा में स्वीकारा कि आज भी मध्यप्रदेश में 10 लाख 32 हज़ार 166 बच्चे कुपोषित हैं तथा इसमें से 6 लाख 30 हजार 90 बच्चे अति कुपोषित श्रेणी में है। मध्य प्रदेश में अभी भी 5 वर्षों से कम उम्र के 42 प्रतिशत बच्चे कुपोषित हैं। आज भी 1000 में से 33 बच्चे जन्म के 28 दिन पश्चात् दम तोड़ देते हैं। आज भी हर दिन 29 बच्चे गुमशुदा हो रहे हैं, यह भयावह सच आपकी 17 वर्षों की सरकार का है। इसके साथ ही कमलनाथ ने कहा कि राज्य पर 3 लाख करोड़ के लगभग कर्ज पहुंच चुका है, प्रति व्यक्ति कर्ज का आंकड़ा 51 हजार तक पहुंच चुका है। उन्होंने सीएम से सवाल किया कि आज राज्य में बिजली संकट है, पानी का संकट है, किसान परेशान है, युवा रोजगार को लेकर भटक रहा है, कर्मचारी वर्ग परेशान है, आंगनवाड़ी, आशा, उषा कार्यकर्ताओं को मानेदय नहीं प्राप्त हो रहा है, कई आगंनवाड़ियों में महीनों से पोषण आहार तक नहीं पहुंच पा रहा है।

मायावती को कैसा लगा योगी सरकार 2.0 का बजट ? जानिए क्या बोलीं बसपा सुप्रीमो

CM योगी बोले- घोषणापत्र के 130 वादों में से 97 पहले ही बजट में पूरे, खर्च किए जाएंगे 54 हज़ार करोड़

मदरसों पर 479 करोड़ खर्च करेगी योगी सरकार, अल्पसंख्यकों के लिए की बड़ी घोषणाएं

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -