बीफ खाओ लेकिन किसी की भावनाएं आहत ना करो

नई दिल्ली : लगता है देशभर में बीफ सेवन को लेकर मचा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालात ये हैं कि अब नेता इस मसले पर बयानबाजी करने में लगे हैं। अब इस मसले पर केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रम मंत्री कलराज मिश्र ने अपना विरोध जताया है। जिसमें उन्होंने कहा कि बीफ का सेवन व्यक्तिगत स्तर पर ठीक हो सकता है लेकिन किसी की भी भावनाऐं आहत करना ठीक बात नहीं है। इस मसले पर उन्होंने कहा कि किसी भी तरह के प्रयास से ध्रुवीकरण बढ़ेगा। यही नहीं केंद्रीय मंत्री द्वारा यह भी कहा गया कि लोगों द्वारा बीफ सेवन पर उन्हें रोका जाना चाहिए।

मगर यह भी कहा गया कि सामूहिकतौर पर नारों के ही साथ बीफ के सेवन का प्रभाव जमाने पर बहुसंख्यकों की भावना आहत होती है। इससे बचना चाहिए। बीफ प्रकरण को लेकर उन्होंने कहा कि इस तरह के मामलों से धु्रवीकरण बढ़ेगा और समाज में इस तरह का प्रयास भी किया जा रहा है। यह ध्रुवीकरण अच्छा नहीं है।

इससे समाज बंट सकता है। समाज के कई लोग इस तरह की बात नहीं चाहते हैं। समाज में मित्रता और विश्वास की आवश्यकता है। उत्तरप्रदेश और बिहार के चुनावों को लेकर यह भी कहा गया कि बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन और महागठबंधन के पक्षों के मध्य मुकाबला किया जा रहा है। इस दौरान कहा गया कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस कमजोर है यहां पर बसपा और सपा का प्रभाव है।

यहां पर तीन दलों के मध्य मुकाबला है। जिसमें भाजपा भी है। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग द्वारा इसे पूर्वनियोजित कहा जा रहा है। उल्लेखनीय है कि बीसाहेड़ा में बीफ सेवन की अफवाह को लेकर अखलाक की मौत हो गई। दूसरी ओर जम्मू - कश्मीर राज्य में भी उच्च न्यायालय के प्रतिबंध के बाद भी बीफ मसले को तूल दिया जाता है और बीफ का सेवन करने और न करने को लेकर विवाद होते रहते हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -