कलराज बोले नोट बन्द होने से सकते में आई सपा-बसपा

वाराणसी : केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि पांच सौ व एक हजार के नोट बंद करने के आदेश पर समाजवादी व बहुजन समाज पार्टी सकते में आ गई है. हालत यह हो गई कि सरकार की कार्रवाई से हकबकाई दोनों पार्टियों को बयान देने में ही 36 घण्टे लग गए. फिर भी खेदजनक बात यह है कि जो बयान आए उनमें दोनों पार्टियां काले धन वालों के साथ खड़े नजर आई. पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का बयान तो दुर्भाग्यपूर्ण ही था.

उपर्युक्त विचार केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने रविवार को यहां सर्किट हाउस पर व्यक्त कर एक पूर्व मुख्यमंत्री की योग्यता पर सवाल उठाते हुए कहा कि जो व्यक्ति कई बार मुख्यमंत्री रहा हो, उसे नोट बंदी की कार्रवाई की समझ न हो, उनके बयान भ्रष्टाचारियों को मदद दें तो इससे बड़ा दुर्भाग्य कुछ और नहीं हो सकता. नोट बंदी की परेशानियों पर मिश्र बोले कि लोगों को जागरूक किया जा रहा है. उन्होंने आश्वस्त किया कि उनके पांच सौ व एक हजार के नोट बर्बाद नहीं होंगे. दिसंबर तक नोट बदले जा सकेंगे. बैंकिंग व्यवस्था को नए नोट के सापेक्ष करने में अभी दो से तीन सप्ताह लग सकते हैं. फिर परेशानी दूर हो जाएगी.

पत्रकारवार्ता में भाजपा की परिवर्तन यात्रा का जिक्र कर मिश्र ने कहा कि चार यात्राएं चल रही हैं. केंद्र सरकार के विकास कार्यो व प्रदेश के कुशासन को जनता के सामने रखा जा रहा है. बिहार में पत्रकारों की हत्या पर दुख जताते हुए विश्वास दिलाया कि पत्रकारों की सुरक्षा के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर नई रणनीति पर विचार किया जाएगा. राहुल गांधी द्वारा बैंक में लाइन में लगकर चार हजार रुपये निकालने को राजनीतिक कदम बताया.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -