सर्दी-ज़ुखाम के साथ अस्थमा की परेशानी को दूर करती कलोंजी

कलौंजीको जिसके  बारे में आप सभी को जानकारी होगी. इसे आम भाषा में मंगरेला कहते हैं. इसे आपने कचौरी और समोसे में काफी खाया होगा. इस छोटे-छोटे दानों की आपके सेहत के लिए क्या अहमियत है आप नहीं जानते होंगे. अगर आपने नहीं जाना है इसके बारे में तो हम आपको बता देते हैं सेहत के लिए क्या लाभ देती है. इसमें काफी मात्रा में फाइबर समेत विटामिन, अमिनो एसिड, फैटी एसिड, आयरन और कई तत्व मौजूद होते हैं. ये सब आपके स्वस्थ के लिए फायदेमंद होते हैं.  

* सर्दी-जुकाम में कलौंजी का काढ़ा बनाकर इसे काले नमक के साथ मिलाकर पिएं. वहीं, इसके तेल से सिर की नियमित मालिश कर आप गंजेपन की परेशानी दूर कर सकते हैं.

* कलौंजी में मौजूद थाइमोक्विनोन अस्थमा की परेशानी दूर करने में कारगर होता है. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच शहद तथा आधा चम्मच कलौंजी का तेल मिलाकर सुबह और शाम खाने से पहले पिएं. करीब एक महीने तक इसे रोज दो बार इस्तेमाल करें.

* डायबिटीज के मरीजों के लिए कलौंजी एक वरदान की तरह है. इसके नियमित सेवन से शरीर में बढ़ा हुआ ग्लूकोज लेवल कंट्रोल होता है. हर सुबह आधा छोटा चम्मच कलौंजी के तेल को एक कप ब्लैक टी में मिलाकर पिएं. आप चाहे तो गुनगुने पानी के साथ भी हर सुबह कलौंजी के बीच का सेवन कर सकते हैं.

* कलौंजी का तेल जोड़ों के दर्द और सिरदर्द में तेजी से आराम पहुंचाता है. इसके लिए कलौंजी का तेल लें और अच्छी तरह सिर या जोड़ों पर लागकर मालिश करें. बेहतर रिजल्ट के लिए आप इसे सरसों के तेल के साथ मिलाकर इस्तेमाल करें. इसे नेचुरल पेनकिलर भी कहा जाता है.

* इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट किसी तरह के सूजन को कम करता है और लीवर और किडनी से विषैले पदार्थ निकाल कर इनकी सफाई करता है. हर रोज गर्म पानी के साथ 4 से 5 कलौंजी खाएं. आप चाहे, तो इसके तेल का इस्तेमाल अपने चाय के साथ करके भी ये फायदा उठा सकते हैं.

पुरुषों को Exercise से होते हैं कई सेहत लाभ

हेल्थ पर जोर देते नजर आए केजरीवाल, कहा- हर संडे बस 10 मिनट

ऐसे करवाएं अपने छोटे बच्चों को योग, होंगे कई फायदे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -