18 अगस्त को है कजरी तीज, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

Aug 17 2019 01:46 PM
18 अगस्त को है कजरी तीज, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

आप सभी इस बात से तो वाकिफ ही होंगे कि कजरी तीज के दिन नीमड़ी मां की पूजा की जाती है ऐसे में इस बार कजरी तीज 18 अगस्त को है और आज हम बताने जा रहे हैं इसकी पूजन विधि.

पूजन विधि- सबसे पहले मिट्टी व गोबर से दीवार के सहारे एक तालाब जैसी आकृति बनाई जाती है. इसी के साथ उसके पास नीम की टहनी को रोप देते हैं और किसी भी तालाब में कच्चा दूध और जल डालते हैं और उसके किनारे दीया जलाकर रखते हैं. इसी के साथ अब नीमड़ी माता को जल व रोली के छींटे दें और चावल चढ़ाएं और फिर नीमड़ी माता के पीछे दीवार पर मेहंदी, रोली और काजल की 13-13 बिंदिया ऊंगली से लगाएं. अब उसके बाद मेंहदी, रोली की बिंदी अनामिका अंगुली से लगाएं और काजल की बिंदी तर्जनी अंगुली से लगानी चाहिए और नीमड़ी माता को मोली चढ़ाने के बाद मेहंदी, काजल और वस्त्र चढ़ाएं. इसके बाद दीवार पर लगी बिंदियों के सहारे लच्छा लगा दें और नीमड़ी माता को कोई फल चढ़ाएं और पूजा के कलश पर रोली से टीका लगाकर लच्छा बांधें. अब इसके बाद पूजा स्थल पर बने तालाब के किनारे पर रखे दीपक के उजाले में नींबू, ककड़ी, नीम की डाली, नाक की नथ, साड़ी का पल्ला आदि देखें और इसके बाद चंद्रमा को अर्घ्य दें.

शुभ मुहूर्त - भादो के कृष्ण पक्ष के तृतीया तिथि की शुरुआत 17 अगस्त की रात 10.48 बजे से ही हो जाएगी और यह 18 अगस्त को आधी 1.13 बजे खत्म होगी. आपको बता दें कि दिन भर पूजा का विधान है और इस दिन तड़के उठे और स्नान आदि कर पूजा की शुरुआत करें. ध्यान रहे कि नये कपड़े जरूर पहनें और इसके बाद मिट्टी से शिव-पार्वती की मूर्ति बनाएं और विधिवत उनकी पूजा करें. इसी के साथ ही सुहाग का सामान मां पार्वती को चढ़ा दें और कजरी तीज के मौके पर गायों के पूजन भी करें.

राखी के बाद है कजरी तीज, जानिए शुभ मुहूर्त

अगर चाहते हैं हर काम हो सफल तो इस स्रोत को लिखकर करें यह काम

ये 10 मंत्र बना सकते हैं आपका जीवन, आज से शुरू करें जाप