ममता सरकार पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय, कहा- 'कलकत्ता हाई कोर्ट ने सरकार की पोल खोल दी'

भोपाल: पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद हिंसा मामले की जांच सीबीआई से करवाने और सिट (SIT) गठन करने के कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश पर BJP के वरिष्ठ नेता और बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय बहुत खुश हुए हैं। हाल ही में उन्होंने एक बयान देते हुए कहा, 'बंगाल में विधानसभा के बाद हिंसा राज्य सरकार के संरक्षण में हुई है।' इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा, “पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा राज्य सरकार के संरक्षण में हुई है। कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश ने सरकार की पोल खोल दी है। हम अदालत के आदेश का स्वागत करते हैं। ”

आप सभी को बता दें कि आज कलकत्ता हाई कोर्ट के मुख्य कार्यवाहक न्यायाधीश राजेश बिंदल सहित पांच न्यायाधीशों की पीठ ने चुनाव के बाद हिंसा की जांच सीबीआई से कराने का निर्देश दिया है। इसी के साथ ही सिट गठित करने का भी निर्देश दिया है। ऐसे में बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष का भी बयान सामने आया है। उनका कहना है कि ''अदालत का फैसला ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है। इस फैसले के बाद अत्याचारित लोगों को न्याय मिलेगा और समाज विरोधियों को सजा मिलेगी। यहां अत्याचार चल रहा है। पुलिस के सामने गाड़ी तोड़ी जा रही है। कोर्ट के फैसले ने दुनिया के सामने स्वीकृति दी है।''

इसके अलावा दिलीप घोष ने यह भी कहा कि, ''बंगाल में 180 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। उनकी गाड़ी पर हमले किए गये हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष के काफिले पर हमला किया गया था। राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा में भगवा पार्टी के 50 सदस्यों की कथित हत्या पर ममता सरकार ने कुछ नहीं किया है।'' वहीँ दूसरी तरफ वकील प्रियंका टेबड़ेवाल का कहना है कि, 'कोर्ट के आदेश से यह साबित हुआ है कि हिंसा हुई थी और यह साबित हो गया है कि अब बंगाल पुलिस पर विश्वास नहीं किया जा सकता है।'

बीच सड़क पर लड़ पड़ीं कांग्रेस की दो महिला नेता, पकड़ लिया एक-दूसरे का गला

अफगानिस्तान की रहने वालीं हैं अर्शी खान, कहा- 'मैं हर तरह से इंडियन हूं'

गिरफ्तार हो सकते हैं मुनव्वर राणा, राखी सावंत भी इसी जुर्म में गई थी जेल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -