जब बात बोली से न बने, तब गोली का प्रयोग करने में कोई बुराई नहीं है

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने जम्मू-कश्मीर में जारी तनाव और हिंसा के हालातों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने इस मसले पर अलगाववादियों के रूख की निंदा की है। दरअसल ट्विटर पर राष्ट्रीय महासचिव, भाजपा कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा है कि देशहित और देश की सुरक्षा सर्वोपरि है। जब बात बोली से न बने तब गोली का ही प्रयोग करने में किसी तरह की बुराई नहीं है।

उन्होंने एक ग्राफिकल पोस्ट में लिखा कि लातों के भूत कभी बातों से नहीं मानते हैं। अलगाववादी नेताओं से कोई बात करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने लिखा कि आतंकियों का साथ देने वाले के साथ आतंकियों जैसा व्यवहार किया जाना सही है। इसके बाद उन्होंने लिखा कि जो लोग आतंकवाद को संरक्षण दे रहे हैं उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा। अप्रत्यक्षतौर पर उन्होंने पाकिस्तान पर निशाना साधा।

इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जी-20 सम्मेलन में आतंकवाद का मुद्दा उठाने को लेकर किखा कि बिल्ली आंख बंद करके दूध पीती है और उसे लगता है उसे कोई नहीं देख रहा, आतंक के पनाहगार अब बख्शे नहीं जाएंगे।

उन्होंने ट्विट किया कि पीएम मोदी की नीतियों से सारे विश्व में देश की प्रतिष्ठा शानदार हुई है। देश में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश भी बढ़ रहा है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन में उपस्थितों को संबोधित करते हुए कहा था कि आतंक का समर्थन करने वाले देशों को अलग किया जाना चाहिए। आतंकी आतंकी होता है दक्षिण एशिया एक ही ऐसा क्षेत्र है जो आतंकियों को बढ़ावा दे रहा है।

"देशहित और देश की सुरक्षा सर्वोपरि है"
जब बात बोली से न बने, तब गोली का प्रयोग करने में कोई बुराई नहीं है। pic.twitter.com/VLoSrlbKbu

— Kailash Vijayvargiya (@KailashOnline) September 6, 2016

बिल्ली आंख बंद करके दूध पीती है और उसे लगता है उसे कोई नहीं देख रहा,आतंक के पनाहगार अब बख्शे नहीं जाएंगे।#G20summit pic.twitter.com/9WhcKoGutq

— Kailash Vijayvargiya (@KailashOnline) September 6, 2016

एक बार फिर सुब्रमण्यम स्वामी के निशाने पर आई भाजपा

कश्मीर में अभी भी नहीं सुधर रहे है हालात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -