कभी चप्पल तक खरीदने के लिए कैलाश खेर के पास नहीं थे पैसे, संघर्ष से भरी है इनकी लाइफ

बॉलीवुड के मशहूर गायक कैलाश खेर आज अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे है। 18 भाषाओं में 300 से अधिक गाना गाने वाले कैलाश यूपी के मेरठ से ताल्‍लुक रखते है। 'तेरी दीवानी' और 'सैंया' जैसे रूहानी गाने गा कर हर आयु के लोगों के दिलों पर राज करते हैं कैलाश खेर। कैलाश खेर की शैली भारतीय लोक संगीत से प्रभावित है। 7 जुलाई 1973 को यूपी के मेरठ में जन्मे Kailash Kher को संगीत मानों विरासत में हासिल हुई है। उनके पिता पंडित मेहर सिंह खेर पुजारी थे और हमेशा ही घरों में होने वाले इवेंट में गाया करते थे। पिता का संगीत से लगाव था बावजूद इसके कैलाश खेर के लिए बॉलीवुड सिंगर बनने की राह बहुत ही कठिन है।  3 वर्ष  की उम्र में कैलाश खेर मेरठ से दिल्‍ली में आ चुके थे। इतनी कम उम्र में वो संगीत सीखने घरवालों से लड़कर दिल्ली गए थे। यहां आकर उन्होंने संगीत की शिक्षा लेनी शुरू की और पैसे कमाने के लिए छोटा सा काम शुरू किया था। वह विदेशी लोगों को संगीत सिखाते और पैसे कमाते थे। 

जब बिजनेस में हुआ भारी घाटा: दिल्ली में बहुत  समय तक रहने वाले कैलाश खेर ने वर्ष 1999 तक अपने एक फैमिली फ्रेंड के साथ एक्सपोर्ट का बिजनेस कर लिया था। लेकिन इस बिजनेस में उन्‍हें भारी घाटा हुआ। उनकी सारी जमा पूंजी भी पूरी तरह से खत्म हो चुकी थी। इस घाटे से कैलाश खेर डिप्रेशन में चले गए। काफी दिन तक डिप्रेशन से जूझने वाले कैलाश को सुसाइड तक के ख्‍याल आने लग गए थे। बाद में कैलाश पैसे कमाने के लिए सिंगापुर और थाइलैंड चले गए। 

साधु संतो के साथ रहे (Kailash Kher struggle): 6 माह तक सिंगापुर और थाइलैंड में रहने के उपरांत कैलाश खेर भारत आए तो वह ऋषिकेश चल दिए। वहां वे साधू-संतो के लिए गाना गाने लगे थे। कैलाश के गाने को सुनकर बड़ा से बड़ा संत झूम उठता था। इस बात ने कैलाश खेर का खोया विश्‍वास फ‍िर से लौटा दिया और वह सिंगर बनने का सपना लेकर मुंबई आ गए थे। मुंबई आकर उन्‍हें कई दिन चॉल में गुजारे। आर्थिक हालत बेहद खराब थी। उनके पाल पहनने के ल‍िए सही चप्‍पल तक नहीं होती थी। टूटी चप्‍पल से ही वह स्‍टूडियो के चक्‍कर लगाते थे। एक दिन उन्हें राम संपत ने एक ऐड का जिंगल गाने के लिए बुलाया, जिसके लिए उन्हें 5000 रुपए मिले।

आखिर रणवीर की किस बात से गुस्सा हो गई थी अनुष्का

आखिर किस अभिनेता के साथ काम करना चाहते है राजकुमार

एक बार फिर अपनी हरकतों की वजह से चर्चा का विषय बनी पूनम पांडे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -