पलानिस्वामी का गंभीर आरोप, कहा- करूणानिधि को स्टालिन ने दो साल तक रखा नज़रबंद

पलानिस्वामी का गंभीर आरोप, कहा- करूणानिधि को स्टालिन ने दो साल तक रखा नज़रबंद

चेन्नई: तमिलनाडु के सीएम के पलानीस्वामी ने सोमवार को आरोप लगाया है कि डीएमके संस्थापक एम करुणानिधि को दो वर्ष तक घर में नजरबंद रखा गया था. पलानीस्वामी ने इस बात के संकेत भी दिए कि सरकार इस मामले को लेकर जांच भी करवा सकती है. पलानीस्वामी के बयान को उनके प्रतिद्वंद्वी और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन के उत्त्तर के रूप में देखा जा रहा है, जिन्होंने कहा था कि अगर डीएमके की सरकार बनती है तो उनकी पार्टी की सरकार पूर्व सीएम जे जयललिता के देहांत की परिस्थितियों की जांच कराएगी. 

कांग्रेस को सबक नहीं सिखाया तो, पत्थरबाजों को मिलने लगेगा भत्ता - सीएम योगी आदित्यनाथ

स्टालिन ने कहा था कि ऐसी जांच से जयललिता के देहांत के तथ्य के बारे में उनके सच्चे समर्थकों को काफी अहम् जानकारी मिलेगी. पलानीस्वामी ने सोमवार को दावा किया कि स्टालिन ने अपने पिता करुणानिधि को  ''अपने निहित स्वार्थों'' के लिए दो वर्षों तक 'नजरबंद' करके रखा था. ऐसे में यह ''सरकार का कर्तव्य'' है कि दिग्गज नेता ने अगर किसी कठिन समय का सामना किया है, तो उसकी जांच करवाए क्योंकि वह स्वयं प्रदेश के सीएम रह चुके थे.

वरुण गाँधी का मायावती पर हमला, कहा - इन्होने जीवन भर सिर्फ टिकट बेचे..

पलानिस्वामी ने कहा है कि इस संबंध में शिकायतें प्राप्त हो रही हैं. पलानीस्वामी ने एक चुनावी रैली में आरोप लगाया है कि स्टालिन ने अपने पिता करुणानिधि का उचित तरीके से उपचार नहीं कराया क्योंकि उन्हें भय था कि अगर पूर्व मुख्यमंत्री स्वस्थ होकर लौट आयेंगे तो स्टालिन पार्टी का अध्यक्ष नहीं बन पायेंगे. 

खबरें और भी:-

महबूबा की खुली धमकी, अगर 370 के साथ छेड़खानी हुई तो पूरा देश जलेगा.....

पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों ने व्हाइट हाउस के सामने किया प्रदर्शन, अपने लिए मांगी अलग जमीन

सज्जन कुमार की याचिका पर CBI ने जताया विरोध, कहा सिखों के कत्ले-आम के 'सरगना' यही थे