दबंग बाबा रामदेव खुद को प्रधानमंत्री का करीबी बताते हैः के सी त्यागी

नई दिल्ली : योग की आड़ी-टेढ़ी आकृति बनाते-बनाते योगगुरु रामदेव बाबा अब संसद के गलियारों तक पहुंच गए है। राज्यसभा में गुरुवार को जेडीयू ने रामदेव बाबा की कंपनी पतंजलि के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जेडीयू नेता का आरोप है कि पतंजलि ने नूडल्स और अन्य उत्पादों की बिक्री के लिए खाद्द नियंत्रक विभाग से अनुमति नही ली है।

जेडीयू नेता के सी त्यागी ने इस मुद्दे को शून्यकाल में उठाया और कहा कि दबंग बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने खाद्द नियंत्रक FSSAI से अनुमति नही ली है और बिना मंजूरी के अपने उत्पाद को बाजार में बेच रहे है। त्यागी का आरोप था कि उनके उत्पादों में गड़बड़ी पाए जाने के बाद भी कार्रवाई नही की गई। रामदेव खुद को प्रधानमंत्री के रीबी के रुप में पेश करते है।

त्यागी का कहना है कि रामदेव का दावा है कि उन्होने बीजेपी सरकार के गठन में तन,मन और धन से काम किया है। त्यागी ने नूडल्स के सैंपल की भी चर्चा की और कहा कि मुंबई उच्च न्यायालय के फैसले को महाराष्ट्र सरकार ने स्वीकार कर लिया। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय में अपील क्यों नहीं की गई।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -