अगर आपके शरीर के अंगों में है यह निशान तो बदलने वाली है आपकी किस्मत

Sep 11 2019 03:00 PM
अगर आपके शरीर के अंगों में है यह निशान तो बदलने वाली है आपकी किस्मत

आप सभी जानते ही होंगे कि हिन्दू धर्म में मनुष्य के शरीर के हर हिस्से की अपनी अलग पहचान है और समुद्र शास्त्र के अनुसार मनुष्य के शरीर का हर अंग उसके बारे में बहुत सारी महत्वपूर्ण जानकारियां बताता है. ऐसे में ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शरीर के कुछ अंगों पर निशान होना बहुत शुभ माना जाता है और यह निशान इंसान की किस्मत बदलने के संकेत देते हैं. ऐसे में आज हम आपको शरीर के अंगों पर उपस्थित ऐसे ही कुछ निशानों के बारे में बताने जा रहे हैं जो अगर आपके पास हैं तो आपको अमीर बनने से कोई नहीं रोक सकता. तो आइए जानते हैं इन निशानों के बारे में.  

* कहते हैं जिन लोगों की हथेली के मध्य में तोमर, रथ, चक्र, बाण या ध्वज आदि का निशान बना होता है, वह लोग बहुत खुशकिस्मत होते हैं. इसी के साथ ऐसे लोगों का जन्म है अन्य लोगों पर शासन करने के लिए होता है. वहीं इनकी समाज में बहुत प्रतिष्ठा होती है और यह लोग हर किसी का दिल अच्छे से जीतना जानते हैं. इसी के साथ इन लोगों के दांपत्य जीवन में सदैव तालमेल और प्यार बना रहता है. 


* कहते हैं तिल अगर आपके हाथ की हथेलियों के बीच है तो आपके लिए बहुत शुभ एवं लाभदायक सिद्ध हो सकता है. जी दरअसल हथेली के बीच में तिल वाले व्यक्ति बहुत धनवान और बड़े दिलवाले होते हैं और इन्हे सामाजिक रुप से मान सम्मान की प्राप्ति होती है. इसी के साथ इन्हें अपने जीवन में बहुत संघर्ष करना पड़ता है लेकिन एक ना एक दिन में सफलता अवश्य मिलती है. इसी के साथ ऐसे लोग अपने परिवार में सबसे अधिक लाडले होते हैं और अपने साथी के प्रति इनका बहुत लगाव बना रहता है. यह काफी शायराना तथा रोमांटिक किस्म के होते हैं.

* कहते हैं जिन लोगों के पैरों में चक्र या कमल का निशान बना होता है, उनके पास कभी भी धन की हानि नहीं होती है. इसी के साथ ऐसे लोग जमीन-जायदाद जैसी सुख सुविधाओं का आनंद उठाते हैं. 

* कहा जाता है जिन लोगों के पैरों के तलवे पर तिल मौजूद होता है वह लोग बेहतरीन शासक माने जाते हैं और इसी के साथ इन लोगों को हर तरह के सुख और यश की प्राप्ति होती हैं. 

वामन द्वादशी पर करें इन मन्त्रों से भगवान वामन का पूजन

इस तरह हुआ था भोले को खुश करने वाले महामृत्युंजय मंत्र का जन्म

आज है वामन जयंती, ऐसे करें पूजन और पढ़े यह कथा