हर 18 मिनट में पीट रहा एक दलित, हर दिन तीन दलितों का बलात्कार

नई दिल्ली : वर्तमान में जिस तरह से केंद्र सरकार कार्य कर रही है उसका परिणाम यह है कि प्रत्येक 18 मिनट में एक दलित पर हमला हो रहा है। हालात ये हैं कि देश में असहिष्णुता का माहौल है। यह बात कही है सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने। दरअसल ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्र सरकार का विरोध करते हुए कहा कि देश में जो महत्वपूर्ण मसले हैं वे हाशिए पर चले गए हैं वे गौण रह गए हैं।

इतना ही नहीं छोटी - छोटी बातें प्रमुख बन गई हैं। वे पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि सुरक्षा और रक्षा को लेकर भी जनता ने अपना जनादेश एनडीए की केंद्र सरकार को दिया। मगर जनता को न तो रक्षा मिली न सुरक्षा और तो ओर महंगाई और हावी हो गई।

दलित मसले पर प्रधानमंत्री जैसे संवैधानिक पद पर आसीन व्यक्ति दब्बू बने हुए हैं। इस तरह से इस पद पर दब्बूपन अच्छा नहीं है। दलितों के साथ बलात्कार हो रहे हैं उन्हें लूटा जा रहा है उनकी हत्याऐं हो रही हैं। आखिर केंद्रीय गृहमंत्री, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री एससी और एसटी के लिए राष्ट्रीय आयोग कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं।

कलेजे पर हाथ रखकर पूछो कि क्या वाकई दलितों का उत्पीड़न हो रहा है ?

पीएम मोदी कर रहे खानापूर्ति

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -