जंगल सफारी की रोमांचकारी तस्वीरें आई सामने

रायपुर : जंगलों के बीच से गुजरता वाहन और वाहन पर लपकते भालू, सियार, लोमड़ी शेर आदि जंगली जानवर और इन्हें बड़े पास से देखने का आपका रोमांच, जंगल के बीच से गुजरने का मिलने वाला आनंद आप में अलग ही ताज़गी भर देता है। जी हां, छत्तीसगढ़ में ऐसा नजारा देखने को मिला। दरअसल हाल ही में जंगल सफारी से कुछ तस्वीरें सामने आई है, जिनमे निरिक्षण दल वाहनों से जंगली जानवरों एबेहद करीब देख रहे है। इस फोटो में जंगली जानवर उन पर हमला करते नजर आ रहे है, हालांकि वाहन में जाली लगे होने के कारण उन्हें कुछ नहीं हुआ। जंगली जानवरों को इतना करीब से देख सभी रोमांचित हो उठे।

नया रायपुर में निर्मित नंदनवन जंगल सफारी पर्यटकों के लिए 6 नवंबर से खोली जा रही है। यहां पर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक लोग भ्रमण कर सकेंगे। यहां पर 10 दिन पहले से ही पर्यटक अपनी बुकिंग करवा सकेंगे। लोगों की सुविधा के लिए जंगल सफारी में टिकट बुकिंग सेंटर बनाया गया है। टिकट प्राप्त करने के लिए प्रातः 9 बजे का समय निर्धारित किया गया है। हालांकि सोमवार को लोग यहां पर वन्य जीवन का आनंद नहीं ले पाऐंगे। जंगल में वास्तविक सुख का आनंद आपको कुछ महंगीदर पर मिलेगा।

मगर यहां पर आप एसी और नाॅन एसी वाहनों में सफर कर लुत्फ ले पाऐंगे। मिली जानकारी के अनुसार जंगल सफारी हेतु राज्य सरकार ने किराए और अलग-अलग तरह के शुल्क की दर तय की है। जिसमें कैमरों और वाहनों पर शुल्क लगेगा। वयस्क हेतु नाॅन एसी बस में 200, एसी वाहन में 300 रूपए में सफर किया जा सकेगा। यहां पर कैमरों के लिए भी पर्यटकों से शुल्क वसूला जाएगा। स्टील और डिजीटल कैमरे के लिए 100 रूपए, हैंडीकैम और वीडियो कैमरे के लिए 500 रूपए साथ ही व्यावसायिक वीडियो कैमरों के लिए निर्धारित शुल्क लिया जा सकेगा।

दरअसल जंगल सफारी में विदेशी पर्यटकों के लिए किराए की दर कुछ अधिक होगी वे नान एसी वाहन का शुल्क 500 रूपए की दर पर और एसी वाहन का शुल्क 1000 रूपए की दर से देंगे। विदेशी अवयस्क पर्यटक के लिए इस तरह की दर 400 रूपए और 800 रूपए तय की गई है।

पार्किंग के लिए यहां पर जो शुल्क वसूला जाएगा। उसके अनुसार बड़े वाहन और मिनी बस 100 रूपए में, शुल्क, कार जीप का 50 रूपए, आॅटो रिक्शा से 30 रूपए, मोटर सायकिल 20 रूपए और साइकिल वाहनों से 10 रूपए का शुल्क वसूला जाएगा। जंगल सफारी का यह सफर लोगों के लिए बेहद सुखद होगा। गौरतलब है कि यहां पर प्रारंभ होने वाली जंगल सफारी का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -