राज्यसभा में जेपी नड्डा को मिली बड़ी जिम्मेदारी, बनाए गए सदन के नेता

राज्यसभा में जेपी नड्डा को मिली बड़ी जिम्मेदारी, बनाए गए सदन के नेता
Share:

नई दिल्ली: आज सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा को राज्यसभा में सदन का नेता चुना गया। इस भूमिका में संसद के ऊपरी सदन में पार्टी का नेतृत्व करना शामिल है, जो एक महत्वपूर्ण पद है जो विधायी रणनीति और समन्वय को प्रभावित करता है। नड्डा इस भूमिका में पीयूष गोयल का स्थान लेंगे। इस महीने की शुरुआत में, नड्डा को भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली की देखरेख की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभालते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। 

इस भूमिका के अलावा, उन्हें रसायन और उर्वरक मंत्रालय में भी कार्य सौंपा गया, जिससे केंद्रीय मंत्रिमंडल में उनके पोर्टफोलियो का और विस्तार हुआ। इन नई जिम्मेदारियों के बावजूद, नड्डा के भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में बने रहने की उम्मीद है। उन्होंने 2020 में अमित शाह से यह भूमिका संभाली थी, जो वर्तमान में केंद्रीय गृह मंत्री के रूप में कार्यरत हैं। ऐसी अटकलें थीं कि केंद्रीय मंत्री के रूप में उनकी नियुक्ति के बाद नड्डा पार्टी अध्यक्ष के पद से हट सकते हैं, क्योंकि दोनों भूमिकाओं की मांग प्रकृति है। हालांकि, पार्टी के आंतरिक नियमों के कारण नड्डा भाजपा प्रमुख के रूप में अपने पद पर बने रहने की संभावना है। भाजपा के नियमों के अनुसार, कम से कम 50 प्रतिशत राज्यों में संगठनात्मक चुनाव पूरे होने के बाद ही नए राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव किया जा सकता है। इस प्रक्रिया में लगभग छह महीने लगने की उम्मीद है, जो दर्शाता है कि नड्डा इस अवधि के दौरान पार्टी में अपनी नेतृत्वकारी भूमिका बनाए रखेंगे।

नड्डा का राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में बने रहना भाजपा के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण अवधि के दौरान पार्टी के नेतृत्व में स्थिरता और निरंतरता सुनिश्चित करता है। सरकार और पार्टी में उनकी दोहरी भूमिकाएँ वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में उनके महत्व को रेखांकित करती हैं, जो पार्टी प्रबंधन के साथ प्रशासनिक कर्तव्यों को संतुलित करती हैं।

सावधान: ऐसे भी हो सकते हैं ट्रेन हादसे ! रेलवे की सिग्नल केबल काटने वाले मुनव्वर और अब्बास अली गिरफ्तार

नौवीं पुण्यतिथि पर स्वर्गीय दिलीप सिंह भूरिया को दी गई श्रद्धांजलि, पद्म विभूषण से सम्मानित करने की उठी मांग

तमिलनाडु में जहरीली शराब से 57 मौतों पर कांग्रेस क्यों खामोश ? नड्डा ने खड़गे को लिखा पत्र

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -