पत्रकार पर अज्ञात बदमाशों ने दनादन बरसाई गोलियां, मौत

रांची: पत्रकारिता को देश का चौथा स्तंभ कहा जाता है लेकिन देश में बढ़ता हुआ अपराध कलमकारों की आवाज दबाने में लगा हुआ है. आए दिन किसी न किसी पत्रकार की हत्या कर दी जाती है. भ्रष्टाचार या दलगत राजनीती के खिलाफ बोलने वाले पत्रकारों को हमेशा हमेशा के लिए मौत के घाट उतार दिया जाता है. ऐसा ही एक मामला झारखंड के चतरा जिले में आया है जहां गुरुवार रात को अज्ञात हमलावरों ने एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी.

पुलिस के मुताबिक, मोटरसाइकिल पर सवार हमलावरों ने गुरुवार रात को छतरा के पत्रकार इंद्रदेव यादव पर चार बार गोलियां दागीं, और उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. हमला उस समय हुआ, जब इंद्रदेव यादव काम के बाद घर लौट रहे थे. इंद्रदेव एक स्थानीय समाचार चैनल में संवाददाता थे.

झारखंड पत्रकार संघ (जेएए) और पत्रकार बिहार मंच एवं अन्य मीडिया संघों ने इस घटना की निंदा की है. जेएए ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए यादव के परिवार के लिए 50 लाख रुपये की आर्थिक मदद की मांग भी की है.

Most Popular

- Sponsored Advert -