हम तो ऐसे ही हसांते हैं भइया

 

1. श्यामू ने शहर की लड़की से शादी की.
शादी के दूसरे दिन ससुर अपनी बहु से कहता है।

ससुर : बेटी जा तो भेस को चारा डाल आ।
बहु : भेस के मुह में झाग देख बिना चारा डाले वापस आ जाती है।

ससुर : क्या हुआ बेटी भेस को चारा क्यों नहीं डाला?
बहु : पापा जी भेस अभी कोलगेट कर रही है.


2. मोहन का इन्तेजार तो दस गाव की छोरिया कर रही है।
पर मोहन का छोरियो का दिखना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।

.. क्यों की ?
मोहन तो अपने खेत में तुवर की बुआई कर रहा है।

और मोहन का एक ही उसूल है न प्यार का जिक्र होगा और न प्यार की बात होगी।
अब मोहब्बत जिससे भी होगी तुवर के कट जाने के बाद ही होगी।


3. पत्नी - ओ जी सुनते हो आज तो मैं 5 रुपए की तीन प्याज ले आई।
पति - (उत्साहित मुद्रा में) अरे वाह, वह कैसे?
पत्नी - प्याज वाले ने तो 5 रुपए की एक ही प्याज दी थी,
एक मैं उसके ठेले से उठाकर भाग आई और एक उसने मुझे फेंककर मारी।

 


4. पति रोज रात को शक्कर का डिब्बा खोलकर देखता और सो जाता ।
.
पत्नी से रहा नही गया और उसने पति से पूछ ही लिया,
''क्यूं जी ये रोज रोज आप शक्कर का डिब्बा खोलकर क्या देखते हो?"
.
पति : अरे, डाक्टर ने कहा है घर पर रोज रात को sugar check कर लिया करो ।

खुबसुरती की मिसाल पेश करती जिंदा-दिल शायरियां

यहाँ मृतक के शव को आधा जलाकर घर ले आते हैं परिजन

जब साधारण चीजों से बना डाली खूबसूरत कलाकृतियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -