हंसी के फव्वारे

हंसी के फव्वारे

1. खांसी से परेशान होकर एक अड़ियल और चर्चित नेता जी डॉक्टर के पास गए और बोले . . . कुकुर खांसी है तगड़ी वाली डॉक्टर साब ! . .
डॉक्टर : लगता है खांसी भी तेरे गले में धरने पर बैठी है ! . .

अड़ियल नेता खांसते हुए : आज खांसी का इलाज नहीं किया तो जाऊंगा नहीं यहां से ! . . . .
डॉक्टर : ठीक है मेरे बाप ये ले जुलाब की गोली ! . .

नेता खांसते हुए : लेकिन मुझे तो खांसी है ! . .
डॉक्टर : पता है ! इसे खा ले एक बार फिर खांसने से पहले तू सोचेगा सौ बार .

 


2. पति : जान, मैंने रात को बहुत प्यारा सपना देखा.
मैंने देखा कि तुम मेरे लिए मेरा पसंदीदा खाना बनाकर लाई हो और मुझे अपने हाथों से खिला रही हो.
इतना ही नहीं, खाना खिलाने के बाद मेरे पैर भी दबा रही हो।
पत्नी : अब तो मुझे पक्का यकीन हो गया।
पति : किस बात पर? पत्नी : इसी पर कि सपने कभी भी सच नहीं होते हैं.

 


3. एक बार गोपाल की पत्नी बीमार हुई तो उसने पत्नी को अस्पताल में भर्ती कराया।
कुछ देर गोपाल की पत्नी का मुआयना करने के बाद जब डॉक्टर बाहर आया तो गोपाल ने पूछा , ‘क्या हुआ डॉक्टर साहब सब ठीक तो है ना?’

डॉक्टर - गोपाल एक बहुत ही बुरी खबर है तुम्हारे लिए।
गोपाल - क्या हुआ डॉक्टर साहब?
डॉक्टर - तुम्हारी पत्नी अब बस पांच घंटों की ही मेहमान है।

गोपाल - कोई बात नहीं डॉक्टर साहब अब जहां पांच साल बर्दाश्त किए हैं तो पांच घंटे और सही.

हसीनाओं के हुस्न पर . . .

इस हसीन एक्ट्रेस की खूबसूरती को दर्शाती शायरियां

चाँद रात की मुबारकबाद देती शायरियां

?