भारत और म्यांमार के बीच संयुक्त व्यापार समिति की बैठक, द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों की होगी समीक्षा

By Nikki Chouhan
Nov 25 2020 12:53 PM
भारत और म्यांमार के बीच संयुक्त व्यापार समिति की बैठक, द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों की होगी समीक्षा

भारत और म्यांमार के बीच 7 वीं संयुक्त व्यापार समिति की बैठक 24 नवंबर 2020 को आभासी मोड के माध्यम से आयोजित की गई थी। दोनों देशों के मंत्रियों ने बैठक की सह-अध्यक्षता की। दोनों पक्षों ने व्यापार, निवेश, बैंकिंग, कनेक्टिविटी, क्षमता निर्माण और सीमा अवसंरचना के उन्नयन और कोरोना चुनौतियों को पूरा करने और पारंपरिक दवाओं सहित फार्मा और स्वास्थ्य क्षेत्र में सहयोग के विस्तार की तैयारी से लेकर विभिन्न द्विपक्षीय मुद्दों की समीक्षा की।

भारतीय केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भारत और म्यांमार के बीच मजबूत सांस्कृतिक और वाणिज्यिक संबंधों पर प्रकाश डाला और भारत ने भारत की 'नेबरहुड फर्स्ट' और 'एक्ट ईस्ट' नीतियों के अनुसार म्यांमार के साथ अपनी भागीदारी को जोड़ा। उन्होंने व्यापार और निवेश, तेल और गैस, बिजली, बीमा, फार्मास्युटिकल और इन्फ्रास्ट्रक्चर सहित कई क्षेत्रों में म्यांमार के साथ अपने बहुमुखी सहयोग को बढ़ाने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को भी रेखांकित किया और इन क्षेत्रों में भारत द्वारा म्यांमार में बढ़े निवेश पर संतोष व्यक्त किया।

दोनों देशों ने स्वीकार किया कि भारत और म्यांमार की तेल और गैस कंपनियों के बीच विशेष रूप से पेट्रोलियम उत्पादों और रिफाइनिंग के क्षेत्र में आपसी सहयोग मौजूद है। उन्होंने भारतीय अनुदान सहायता के तहत तमु (चरण I) में एक आधुनिक एकीकृत चेक पोस्ट (ICP) की स्थापना पर परियोजना समझौते को अंतिम रूप देने की सराहना की, जो द्विपक्षीय संपर्क और व्यापार को बढ़ाएगा। संतुष्टि व्यक्त करने वाले देशों के साथ बैठक संपन्न हुई। भारतीय मंत्री ने 2021 में भारत में होने वाली अगली संयुक्त व्यापार समिति की बैठक के लिए केंद्रीय वाणिज्य मंत्री, म्यांमार के डॉ. थेन म्यिंट को भी निमंत्रण दिया।

'लव जिहाद' पर बोले नरोत्तम मिश्रा- धर्म पर कुठाराघात मंजूर नहीं, दिसंबर में आएगा कानून

दलित शख्स के बाल काटने की सजा, सैलून मालिक पर लगा 50 हज़ार का जुर्माना

'हमारे साथ आओ, मंत्री बना देंगे', भाजपा विधायक को लालच देते हुए 'लालू यादव' का ऑडियो वायरल