ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के बाद बोले जितेंद्र सिंह बिसेन- 'कल्पना से बहुत कुछ ज्यादा है...'

नई दिल्ली: श्रृंगार गौरी मामले में हलचल के बीच ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे की कार्यवाही हुई। 14 मई को मस्जिद के तहखाने के 4 कमरों तथा पश्चिमी दीवार के सर्वे की कार्यवाही हुई। सर्वे के पश्चात् बाहर निकले विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने बोला है कि वहां कल्पना से बहुत कुछ अधिक है। ज्ञानवापी सर्वे के समय क्या प्राप्त हुआ, इस सवाल पर जितेंद्र सिंह बिसेन ने बोला कि मेरी नहीं, हम सबकी कल्पना से भी अधिक बहुत कुछ है। उन्होंने कहा कि कल के सर्वे के लिए भी काफी कुछ है। बिसेन ने कहा कि कुछ ताले खोले गए, कुछ ताले तोड़ने पड़े। सर्वे की रिपोर्ट भी सबके सामने आएगी।

उन्होंने कहा कि अदालत के निर्देश के अनुसार सर्वे हो रहे है। दोनों ही पक्षों ने अपना-अपना पक्ष रखा। विश्व वैदिक सनातन संघ के प्रमुख जितेंद्र सिंह बिसेन ने कहा कि हम सभी बातें मीडिया में नहीं बता सकते। दोनों पक्षों की मंजूरी से सर्वे हुआ। अधिवक्ताओं ने भी कहा कि सर्वे में कोई अड़चन नहीं आया। सर्वे के पश्चात् मस्जिद परिसर से बाहर निकले अधिवक्ताओं ने कहा कि लगभग 4 घंटे तक ये कार्यवाही चली। वादी-प्रतिवादी तथा पुलिस-प्रशासन, सभी पक्ष सहयोग कर रहे हैं। शांतिपूर्ण तरीके से सर्वे चल रहा है। अधिवक्ताओं ने कहा कि सर्वे की रिपोर्ट अत्यंत गोपनीय है। अदालत का आदेश है कि जो कोई भी कार्यवाही को लेकर बाहर कुछ लीक करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अधिवक्ताओं ने ये भी कहा कि जहां-जहां का सर्वे करना था, वहां-वहां किया गया। सर्वे की कार्यवाही कल मतलब 15 मई को भी जारी रहेगी। सर्वे की कार्यवाही कब तक चलेगी, इस प्रश्न पर अधिवक्ताओं ने कहा कि इसे लेकर हम अभी कुछ नहीं कह पाएंगे। इस सिलसिले में वकील कमिश्नर ही बता पाएंगे। ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के चलते उपस्थित रहे अधिवक्ताओं ने ये भी कहा कि कल भी सर्वे होगा। इसके बाद का जो अपडेट होगा, उसकी जानकारी कल सर्वे के बाद ही प्राप्त हो पाएगी। दीवारों पर कोई चिह्न, प्रतीक चिह्न मिला? तहखाने में क्या मिला? इस सवाल का उत्तर देने से वादी पक्ष के जितेंद्र सिंह बिसेन के साथ ही अधिवक्ता तक, हर कोई बचता रहा। जितेंद्र सिंह बिसेन से लेकर अधिवक्ताओं तक, सभी ने ये कहा कि अदालत का मामला है। इसमें क्या मिला, इस सिलसिले में कोई खबर नहीं देनी है। अदालत ने सर्वे की रिपोर्ट को अत्यंत गोपनीय रखने का निर्देश दिया है। किन्तु जितेंद्र सिंह बिसेन के इस दावे के बाद कि कल्पना से अधिक है, ये कहा जा रहा है कि हिंदू पक्ष ने अदालत में जो दावा किया था, उसके पक्ष में सर्वे के समय कुछ प्राप्त होगा।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यात्रियों से बोर्डिंग पास के लिए अतिरिक्त शुल्क वसूले जा रहे मामले की जांच की

तमिलनाडु में 17 मई तक भारी बारिश की संभावना: आईएमडी

गुना में हुई 3 पुलिसकर्मियों की हत्या पर CM शिवराज ने किया बड़ा ऐलान, मृतकों के परिवार को देंगे एक-एक करोड़ रूपये

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -