झारखंड में 'धर्म' के नाम पर भड़की सियासत, नमाज-कीर्तन को लेकर मचा बवाल

रांची: झारखंड विधानसभा में 'धर्म' के नाम पर भड़की राजनीती की आग अब बिहार को भी झुलसाने को तैयार है। पड़ोसी राज्य की तर्ज पर बिहार में भी राजनीतिक दलों ने सदन में धार्मिक गतिविधियों को लेकर तलवारें खींच ली हैं। भाजपा ने बिहार विधानसभा में भी कीर्तन तथा पूजा के लिए स्थान की मांग की है।

दरअसल, इस केस का आरम्भ झारखंड से हुआ है। झारखंड में जिस प्रकार से नमाज के लिए विधानसभा में एक कमरा अलॉट किया गया है, उसके पश्चात् से ही झारखंड विधानसभा में मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने मोर्चा खोल रखा है। भाजपा ने सरकार पर आरोप लगाया है कि 'झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने तुष्टिकरण की नीति के तहत धर्म विशेष को धार्मिक गतिविधि के लिए कमरा अलॉट किया है'।

वही झारखंड-बिहार में विधायिका को धार्मिक गतिविधियों से परे रखने की मांग जोर पकड़ने लगी है। भाजपा ने दोनों ही राज्यों में विरोधी दलों के विरुद्ध मोर्चा खोल रखा है। पार्टी की मांग है कि 'यदि एक धर्म विशेष के लिए सदन में खास व्यवस्था की जाती है तो शेष धर्मों के लिए भी वैसे इंतजाम सुनिश्चित की जाए।' भाजपा ने झारखंड विधानसभा में मुस्लिम विधायकों तथा सदन के मुस्लिम कर्मचारियों को नमाज पढ़ने के लिए कमरा अलॉट करने के पश्चात् खूब हंगामा किया। सदन का मॉनसून सत्र निरंतर हंगामे की भेंट चढ़ता जा रहा है। भाजपा ने बकायदा सदन के बाहर परिसर में कीर्तन आरम्भ कर दिया। भाजपा ने सदन में एक कमरा पूजा-पाठ तथा कीर्तन के लिए अलॉट करने की मांग की है।

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता सदानंद सिंह ​का निधन

तालिबान को मिली अफगान की कमान, किया नए कैबिनेट का ऐलान

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति को कोर्ट का समन, आय से अधिक संपत्ति का मामला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -