ट्रेन की चपेट में आने से तीन आदिवासी बच्चों की मौत, पटरी पर मिले कटे हुए शव

रांची: झारखंड के दुमका जिले में तीन नाबालिग आदिवासी बच्चों की ट्रेन की चपेट में आने की वजह से दर्दनाक मौत हो गई। यह हादसा शिकारीपाड़ा थानाक्षेत्र के बरमसिया रेलवे स्टेशन के पास हुआ है। मृतक बच्चों की शिनाख्त एलबिना मुर्मू,अजय हेम्ब्रम और साइमन मरांडी के रूप में की गई है। सभी की आयु 16 साल बताई जा रही है। तीनों बच्चे पास शहरजोरी और दुर्गापुर गांव के निवासी थे।

सूचना मिलते ही शिकारीपाड़ा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। घटना का पता तब चला जब इसी रेलवे ट्रैक से एक मालगाड़ी निकल रही थी और उसके ड्राइवर को वहां बच्चों के शव पड़े दिखे। बताया जा रहा है कि तीन में से दो बच्चों के शव कटे हुए पड़े थे, जिनमें से एक बच्चे का सिर धड़ से अलग पड़ा हुआ था। जबकि, तीसरी लड़की की मौत अंदरूनी चोट लगने के चलते हुई है।
 
शिकारीपाड़ा थाना के थाना प्रभारी अरविंद कुमार घटना के बारे में जानकारी दी है कि संभवत: तीनों की मौत दुमका-हावड़ा ट्रेन से हुई है। पुलिस ने इन तीनों बच्चों के साथ मौजूद एक नाबालिग लड़की से पुलिस भी पूछताछ की है। उसने बताया कि वह उन लोगों के साथ ही थी। मगर रात 9 बजे वह अपने घर चली गई थी। फिर उसे भी सुबह ही जानकारी मिली कि उसके तीनों दोस्तों की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। अभी पुलिस हर एंगल से इस मामले की जांच कर रही है।

'ज्ञानवापी में ही मौजूद है स्वयंभू शिवलिंग..', इलाहबाद हाई कोर्ट में हिन्दू पक्ष का दावा

6 बारातियों की रास्ते में मौत, दुल्हन करती रह गई इंतज़ार... शादी समारोह में पसरा मातम

'12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है ज्ञानवापी में मिला शिवलिंग, कोर्ट में कर सकते हैं साबित'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -