झारखंड पर मंडराया चक्रवात का खतरा, बढ़ सकती है मुश्किलें

रांची: झारखंड पर एक और चक्रवाती तूफान का संकट मंडराने लगा है। बंगाल की खाड़ी के मौसमी दशाओं में बदलाव की वजह से चक्रवात के अनुकूल माहौल बन चुका है। मौसम एक्सपर्ट्स ने बुधवार तक इसके निम्‍न दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होने की संभावना व्यक्त की है। मौसम विभाग के मुताबिक, दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में एक साइक्‍लोनिक सर्कुलेशन बना है, जिसके निम्‍न दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित करने की उम्‍मीद है। तटीय इलाकों के साथ ही इसका प्रभाव झारखंड में भी व्‍यापक स्तर पर देखा जा सकता है। 

हालांकि, मौसम विभाग ने फिलहाल राज्य में बारिश या तूफान आने की चेतावनी जारी नहीं की है। रांची मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानियों ने कहा कि डॉप्‍लर रडार से प्राप्त हुए इनपुट से बंगाल की खाड़ी में साइक्‍लोनिक सर्कुलेशन बनने का पता चला है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि बुधवार दोपहर पश्चात् या फिर शाम तक यह निम्‍न दबाव के क्षेत्र के तौर पर तब्दील हो जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अलीपुर (कोलकाता) स्थित क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने भी इसी प्रकार की आशंका व्यक्त की है। सेटेलाइट से मिली फोटोज में दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में चक्रवात के अनुकूल माहौल बनने का पता चला है।

वही झारखंड की राजधानी रांची, जमशेदपुर एवं इससे लगते इलाकों में मंगलवार को दिनभर धुंध की चादर फैली रही। आसमान में बादल भी छाए रहे। मौसम एक्सपर्ट्स ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में हो रहे मौसमी बदलाव की वजह से यह बदलाव हुआ है। मंगलवार को दिनभर बादलों एवं सूरज के बीच आंखमिचौली चलती रही। दूसरी ओर रांची मौसम विज्ञान केंद्र की तरफ से मंगलवार दोपहर पश्चात् जारी अपडेट में अगले 72 घंटों तक झारखंड के तमाम इलाकों के तापमान में कोई विशेष परिवर्तन न होने की बात कही गई है।

आज इन 3 राशि के लोगों का दिन होगा खुशनुमा

पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह आज पंजाब में नई पार्टी कर सकते है लॉन्च

मस्जिद में झाड़ू लगाते थे इरफ़ान पठान के पिता, बेहद गरीबी में गुजरा थे बचपन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -