झारखण्ड सरकार अपराध नियंत्रण पर हुई सख़्त

रांची : सबसे अच्छा राज्य वही है, जहाँ कानून -व्यवस्था अनुकूल रहे. इसी धारणा को मजबूत करने के लिए झारखंड राज्य की मुख्य सचिव और डीजीपी ने अपराध नियंत्रण व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए राज्य के सभी जिलों के उपायुक्त एवं एसपी को दिशा-निर्देश जारी किए.

उल्लेखनीय है कि मुख्य सचिव राजबाला वर्मा और डीजीपी डीके पांडेय ने अपराध नियंत्रण पर केंद्रित इस वीडियो कांफ्रेंस में कहा कि, डीसी और एसपी की सबसे अहम प्राथमिकता अपराध रोकने की रहेगी . असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कार्रवाई करने के अलावा अपराध संभावित क्षेत्र की प्रोफाइल तैयार कर लंबित वारंटों पर तुरंत अमल करने, कुर्की के मामले निपटाने व सीसीए लगाने  के निर्देश दिए गए.

बता दें कि डीजीपी ने राज्य के अपराधियों में पुलिस का खौफ और आम जनता में विश्वास पैदा करने के प्रयास करने पर ज़ोर दिया. वहीं मुख्य सचिव ने इंटेलिजेंस सूचना को अपराध नियंत्रण में कारगर बताया. मुख्य सचिव और डीजीपी ने अपराध को तीन श्रेणियों में बांटने के भी निर्देश दिये. सांप्रदायिक घटनाओं पर विशेष ध्यान देने को कहा गया, अन्यथा सांप्रदायिक घटनाएं होने पर डीसी- एसपी जिम्मेदार होंगे 

यह भी देखें

सरकारी ज़मीन से छेड़छाड़ करने वाले 6 आरोपियों को ACB ने पकड़ा

पुलिस ने बनाया रिक्शे को एम्बुलेंस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -