झारखण्ड कांग्रेस में जबरदस्त घमासान, क्या दिल्ली की बैठक में निकलेगा समाधान

झारखण्ड कांग्रेस में जबरदस्त घमासान, क्या दिल्ली की बैठक में निकलेगा समाधान

रांची: झारखंड में कांग्रेस के भीतर चल रहा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब इस बवाल का समझौता दिल्ली में होगा. कांग्रेस के सभी दिग्गज नेताओं को दिल्ली तलब किया गया है. कांग्रेस प्रभारी और संगठन मंत्री इस सवाल का समाधान खोजेंगे, लेकिन कांग्रेस के इस बवाल पर सूबे में राजनीति तेज हो गई है. जहां एक ओर महागठबंधन का चेहरा हेमंत सोरेन को बनाए जाने के बाद कांग्रेस में बवाल की वजह माना जा रहा है, वहीं भाजपा कांग्रेस के डीएनए पर सवाल खड़े कर रही है.

कांग्रेस में बढ़ते अंतर कलह को लेकर शनिवार को दिल्ली में प्रस्तावित बैठक को लेकर नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा हाल के दिनों में जो कांग्रेस दफ्तर में लाठी-डंडे चले और आपस में उलझे, यह कोई कांग्रेस की पहली घटना नहीं है. कांग्रेस के डीएनए में ही यह सब बसा हुआ है. सत्ता के लालच में सभी एकजुट होने का प्रयास कर रहे हैं, किन्तु कांग्रेस आपस में ही उलझे हुए हैं. विपक्ष में अब कुछ शेष नहीं है.

सीपी सिंह ने आगे कहा कि शिबू सोरेन लोकसभा का चुनाव हार गए, इसलिए विपक्ष की भूमिका में कौन मजबूत है, इसको लेकर खींचतान चल रही है. हेमंत सोरेन को सीएम का चेहरा मानने को लेकर कांग्रेस में शुरू हुई बगावत पर सीपी सिंह ने कहा कि कौन किसे किस चीज़ का चेहरा मानता है. इस से कोई फर्क नहीं पड़ता, लेकिन सभी सत्ता के लोभ में इकठ्ठा हो रहे हैं. सभी अपने अपने स्वार्थ को लेकर एक जगह आ रहे हैं. 

26 अगस्त को होंगे उच्च सदन के दो सीटों के लिए उपचुनाव

राज्यपाल से मिलकर बोले अब्दुल्ला, कहा- जम्मू कश्मीर के बारे में नहीं मिल रहा साफ़ जवाब

संसद सत्र के बाद कांग्रेस कर सकती है नये पार्टी अध्यक्ष का ऐलान