जेट को हुआ 426 करोड़ का मुनाफा

मुम्बई : जेट एयरवेज को वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में लागत नियंत्रण की वजह से 426 करोड़ का शद्ध मुनाफा हुआ है.जबकि सहायक कम्पनी जेट लाइट में अपने इक्विटी निवेश को बट्टे खाते में डाले जाने की वजह से 1803 करोड़ का नुकसान हुआ था.

एयर लाइन ने कहा कि उसने वित्त वर्ष 2016 में कर्ज में 1680 करोड़ तक की कमी की. यूँ तो कम्पनी का सालाना राजस्व सिर्फ 3.5 फीसदी बढकर 5245 करोड़ रहा लेकिन ईधन बिल में 25 फीसदी की कमी से अपनी लागत घटाने और मुनाफा  कमाने में मदद मिली. जेट एयरवेज ने 397 करोड़ रु. का स्टैंडएलोन लाभ दर्ज किया, वहीं सहायक कम्पनी जेट लाईट का लाभ 29 करोड़ रहा.

सालाना खर्च में 13 फीसदी की कमी आई, क्योंकि परिचालन खर्च में कमी की गई. कम्पनी के बयान के अनुसार प्रदर्शन में सुधार विमानों के बेड़े के व्यापक इस्तेमाल और नेट वर्क को तर्कसंगत बनाए जाने की वजह से दर्ज की गई.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -