JBCCI की दो दिवसीय बैठक आज से

कोरबा : कोल इंडिया में 10 वें वेतन समझौते की प्रक्रिया शुरू की गई है. जेबीसीसीआई का गठन होने के बाद समिति की एक बैठक हो चुकी है. दूसरी दो दिवसीय बैठक 21 व 22 जनवरी को होगी. बैठक में वेतन आदि पर चर्चा की जाएगी.रिटायर कर्मचारियों की पेंशन व मेडिकल सुविधा की रिपोर्ट भी पेश की जाएगी.

बताया जा रहा है कि भिलाई में जो वेतन समझौता हुआ है उसी तर्ज पर कोल इंडिया में भी वेतन समझौते को अंतिम रूप दिया जा सकता है. हालांकि श्रमिक संगठन इसे इंकार कर कह रहे है कि भिलाई व कोल इंडिया की स्थिति में जमीन आसमान का फर्क है.भिलाई की वित्तीय स्थिति काफी खराब है. उत्पाद की बिक्री नहीं होने से वेतन में कम वृद्धि की गई है.

बता दें कि कोल इंडिया अपने स्थापना काल से ही मुनाफे में है. नगद पूंजी 65 हजार करोड़ रुपए तक जा चुकी है. मिशन 2020 के तहत कोयला उत्पादन दोगुना 500 से एक हजार मिलियन टन करने की तैयारी है.इसे देखते हुए ही श्रमिक संगठनों द्वारा वेतन में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी का प्रस्ताव दिया गया है. बैठक में इसी प्रस्ताव पर चर्चा की जाएगी.

श्रमिक नेताओं का कहना है कि कोल इंडिया में पहले आठ लाख कर्मचारी काम कर रहे थे. अभी यह संख्या घटकर पौने चार लाख हो चुकी है. उत्पादन कई गुना बढ़ चु़का है.इससे यह बात जाहिर होती है कि कर्मचारी लगन व मेहनत से काम कर रहे हैं. इसलिए बढ़ती महंगाई को देखते हुए वेतन में अच्छी खासी बढ़ोतरी जरुरी हो गई है.वेतन समझौता भी पांच साल के लिए हो रहा है. उधर,रिटायर कर्मचारियों की पेंशन व मेडिकल सुविधा पर मंथन हो चुका है. अब जांच समिति द्वारा इसकी रिपोर्ट बैठक में प्रस्तुत की जाएगी.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -