+

Live मप्र बजट : होशंगाबाद में खुलेगा कृषि विश्वविद्यालय, मंडियों का होगा डिजिटलाईजेशन

Feb 26 2016 11:18 AM
Live मप्र बजट : होशंगाबाद में खुलेगा कृषि विश्वविद्यालय, मंडियों का होगा डिजिटलाईजेशन

भोपाल : मध्यप्रदेश की राज्य सरकार ने अपना बजट प्रस्तुत किया। राज्य सरकार के लिए विधानसभा में Jayant Malaiya ने बजट के पहले अभिभाषण पढ़ा। बजट के दौरान उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली स्वीकृतियों पर चर्चा की तो दूसरी ओर राज्य के प्रावधानों के बारे में घोषणा की। राज्य सरकार के इस बार के बजट में कहा गया है कि प्याज उत्पादन क्षमता में 5 लाख टन की बढ़ोतरी की जाएगी। वित्तमंत्री जयंत मलैया ने कहा कि राज्य की 50 कृषि मंडियों को ईंटरनेट सेवा से जोड़ा जाएगा। उन्होंने घोषणा की कि इन मंडियो को डिजिटलाईज़्ड किया जाएगा।

शिक्षा के लिए 2448 करोड़ का प्रावधान किया गया। वित्तमंत्री जयंत मलैया ने कहा कि प्रति व्यक्ति दूध का उत्पादन भी बढ़ा है। उन्होंने होशंगाबाद में कृषि विश्वविद्यालय खोले जाने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि चलति स्तर पर पशु चिकित्सा सुविधाऐं भी प्रदान की जाऐंगी। वित्तमंत्री ने घोषणा की कि जलाशयों में मत्स्य उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा।

उनका कहना था कि सिंचाई सुविधा बढ़ाने से खेती में बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने संग्रहित जलों का उपयोग करने के लिए खेतों तक पर्याप्त जल पहुंचाने की बात भी कही। उनका कहना था कि 20 नर्सरी को और विस्तार प्रदान किया जाएगा। वित्मंत्री जयंत मलैया ने विभिन्न परियोजनाओं की चर्चा भी की। जिसमें उन्होंने प्रमुख रूप से वन संरक्षण और सिंचाई परियोजनाओं की बात कही। उनका कहना था कि 4 परियोजनाऐं तो आदिवासी क्षेत्रों में सिंचाई हेतु तैयार की गई हैं।

उन्होंने कहा कि सिंहस्थ 2016 के लिए नर्मदा शिप्रा लिंक परियोजना का बेहतर कार्य हुआ। इस परियोजना से सिंहस्थ के लिए पानी उपलब्ध होगा वहीं देवास, उज्जैन आदि क्षेत्रों में जल की व्यवस्था की जा सकेगी। नर्मदा गंभीर लिंक योजना का कार्य भी प्रारंभ हो गया है। जिससे 50 हजार हैक्टयर सिंचाई क्षमता को विकसित किया जाएगा। उन्होंने कालिसिंध सिंचाई योजना पर भी कार्य करने की बात कही। सरकार ने इस बार पट्टेदारों को भी फसल बीमा योजना का लाभ देने की बात कही। उन्होंने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 51 क्षेत्रों में लागू करने की बात भी कही।