पीलिया में ये चीज़ें भी दे सकती हैं राहत, तुरंत करें इलाज

पीलिया में ये चीज़ें भी दे सकती हैं राहत, तुरंत करें इलाज

बरसात के मौसम में बिमारियों का खतरा अधिक होता है. इन्हीं बिमारियों में से एक हैं पीलिया जो वायरस की वजह से होता हैं. इस बिमारी में लक्षण के तौर पर आँखों, नाखूनों, पेशाब आदि का रंग पीला होने लगता हैं. ये एक जानलेवा बीमारी भी हो सकती है इसलिए इसके लक्षण को अनदेखा ना करें. तुरंत ही इलाज करवाएं. इसके अलावा पीलिया में कुछ और चीज़ें हैं जो काम  आ सकती हैं. आज हम आपके लिए कुछ घरेलू नुस्खे लेकर आए हैं जो पीलिया कि बीमारी का जड़ से इलाज करते हैं.
 
पीपल का पत्ता 
आयुर्वेद में पीपल को एक औषधीय जड़ी बूटी माना गया है जिसका इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में किया जा सकता है. पीपल के कोमल पत्तों का रस निकालकर उसमें मिश्री मिलाकर सेवन करने से पीलिया जल्दी ही खत्म हो जाएगा. 

मुलेठी
पीलिया रोग में 1 चम्मच मुलेठी का चूर्ण शहद के साथ मिलाकर या इसका काढ़ा पीने से पीलिया रोग में लाभ होता है. 2 से 5 ग्राम मुलहठी का चूर्ण पानी और मिश्री के साथ सेवन करने से पेट मे गैस कम हो जाती. ये खासी में भी काम आती है. 

गिलोय या गुडूची
यह औषधि भारत सहित एशिया के कई देशों में पाई जाती है. इस पौधे की डंठल का पाउडर बनाया जाता है जिसे गुडूची सत्व कहा जाता है. एक अध्ययन के अनुसार, पीलिया से पीड़ित लोगों के इलाज के दौरान उन्हें दिन में 16 मिलीग्राम / किग्रा गुडूची दी गई. इससे मृत्यु दर 61.5 फीसदी से घटकर 25 फीसदी हो गई थी. इस पाउडर को गर्म पानी में मिलाकर दिन में दो बार लेना चाहिए लेकिन डॉक्टर की सलाह पर.

मच्छरों के काटने से इस कारण होती है खुजली

समय से पहले हो रहे सफ़ेद बाल तो बन सकता है चिंता का विषय