हरियाणा में जाट आरक्षण की मांग को लेकर हंगामा, इंटरनेट व यातायात सेवा चौपट

Feb 19 2016 09:24 AM
हरियाणा में जाट आरक्षण की मांग को लेकर हंगामा, इंटरनेट व यातायात सेवा चौपट

चंडीगढ़ : हरियाणा में जाट आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा हंगामा बढ़ता ही जा रहा है. झज्जर और सोनीपत में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है, वहीं रोहतक में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर कर दी गई है. वहीँ आरक्षण की मांग को लेकर हिंसक होते प्रदर्शन के बीच खट्टर सरकार ने आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है. गुरुवार को रोहतक कोर्ट परिसर में आरक्षण की मांग को लेकर 2 गुटों के आपस में भिड़ं गए थे. 

पुलिस की मौजूदगी में ही दोनों गुटों के बीच टकराव हुआ.पिछले कई दिनों से आरक्षण की मांग को लेकर हरियाणा में जाट प्रदर्शन हो रहा है. UPA सरकार के समय से जाटों को मिले आरक्षण को पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया था.

गुरुवार को हरियाणा आरक्षण की मांग को लेकर जाटों के कारण प्रदर्शन से राज्य के कई हिस्सों में सड़क यातायात प्रभावित रहा. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (EBC) के लिए आरक्षण का कोटा 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने की घोषणा की. इसके साथ ही उन्होंने सालाना आय की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 6 लाख रुपये करने की भी घोषणा की. 

सोनीपत, भिवानी, हिसार, फतेहाबाद और जींद में हंगामा

जाटों का प्रदर्शन रोहतक-झज्जर क्षेत्र से सोनीपत, भिवानी, हिसार, फतेहाबाद और जींद जिलों तक फैल गया. प्रदर्शनों में महिलाएं भी शामिल हो गईं हैं सोनीपत में प्रदर्शनों में वकील शामिल हुए. प्रदर्शनकारी सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण की मांग कर रहे हैं.

ऑल इंडिया जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा कि सरकार ने अपना प्रस्ताव दे दिया है, लेकिन लोग उतने खुश नहीं हैं.और इसका परिणाम 1 या 2 दिनों में पता चलेगा.