तंत्र की 4 महारात्रियों में से एक है जन्माष्टमी की रात, करें यह महाउपाय

Aug 19 2019 02:40 PM
तंत्र की 4 महारात्रियों में से एक है जन्माष्टमी की रात, करें यह महाउपाय

आप सभी को बता दें कि हर साला मनाई जाने वाली जन्माष्टमी इस साल 24 अगस्त को मनाई जाने वाली है. ऐसे में इस दिन की रात को तंत्र की 4 महारात्रियों मे से 1 माना गया है और विशेष रूप से इस रात्रि को शनि, राहु, केतु, भूत, प्रेत, वशीकरण, सम्मोहन, भक्ति और प्रेम के प्रयोग एवं उपाय करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है. ऐसे में इस दिन किए जाने वाले विशेष उपाय को आज हम आपको बताने जा रहे हैं जो आपको अवश्य करना चाहिए. आइए जानते हैं उस उपाय को.

विशेष उपाय - इसके उपाय को करने के लिए ससंकल्प उपवास करें और रात के समय में भोजन न लें. इसी के साथ काले तिल व् सर्व औषधि युक्त जल से स्नान करें और संतान प्राप्ति तथा पारिवारिक आनंद के लिए कृष्ण पूजन, अभिषेक कर जन्मोत्सव मनाएं. आप धनिये की पंजरी और माखन मिश्री का भोग लगाकर प्रसाद वितरण कर सकते हैं. इसी के साथ इष्ट मूर्ति, मंत्र, यंत्र की विशेष पूजा व साधना करें और श्री राधा कृष्ण बीजमंत्र का जप करें.

अब उसके बाद भक्ति एवं संतान प्राप्ति के लिए गोपाल, कृष्ण, राधा या विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ व तुलसी अर्चन करें और भूत प्रेत बाधा निवारण, रक्षा प्राप्ति हेतु सुदर्शन प्रयोग, देवीकवच का पाठ करें. इसी के साथ आप इस दिन श्रीकृष्ण और राधिका के 1000 नामों का पाठ करें. अब आप अगर किसी को आकर्षण, सम्मोहन, वशीकरण करना चाहते हैं या अपना प्रेम पाना चाहते हैं तो तांत्रिक प्रयोग कर सकते हैं. इसी के साथ आप इस रात को श्रीकृष्ण की प्रिय वस्तुओं के साथ उनका श्रृंगार करें. इस उपाय को करते ही आपको लाभ ही लाभ होना शुरू हो जाएगा.

जन्माष्टमी पर करें श्रीकृष्ण अष्टक का पाठ, मिट जाएंगे सारे संताप

जन्माष्टमी पर विशेष फलदायी होता है 'श्री कृष्ण चालीसा' का पाठ

जन्माष्टमी पर इस आरती से करें श्री कृष्ण को प्रसन्न