धारा 370 पर मोदी सरकार के साथ घाटी के मुसलमान, कहा- आज तक सिर्फ हमें दबाया गया और...

Aug 16 2019 02:04 PM
धारा 370 पर मोदी सरकार के साथ घाटी के मुसलमान, कहा- आज तक सिर्फ हमें दबाया गया और...

कुपवाड़ा: जम्‍मू कश्‍मीर से संविधान की धारा 370 हटाए जाने के बाद घाटी के लोगों ने मोदी सरकार के इस फैसले का दिख खोलकर स्‍वागत करना शुरू कर दिया है. कभी राजनीति और आतंक के खौफ से खामोश रहने वाले लोगों ने अब खुलकर बोलना आरंभ कर‍ दिया है कि उन्‍हें धारा 370 और अनुच्छेद 35ए की वजह से अब तक कोई लाभ नहीं मिला है. उन्‍होंने कहा है उन्‍हें रोजगार और रोटी चाहिए. सरकार को इन्‍हीं दो बातों पर अब विशेष ध्‍यान देना चाहिए. 

जम्‍मू कश्‍मीर के हंदवाड़ा में व्‍यवसाय करने वाले फारूक अहमद सोफी ने कहा है कि 1947 से लेकर आज तक हमें केवल सपने दिखाए गए हैं. यहाँ की आवाम के लिए केंद्र सरकार द्वारा जो कुछ भी दिया गया है, वह किन लोगों की जेबों में गया है, यह हम पूछ भी नहीं सकते हैं. जम्‍मू कश्‍मीर में किसी की भी सरकार रही हो, उन्‍होंने केवल हम लोगों को दबा कर रखा है. अहमद सोफी ने बताया कि जम्‍मू कश्‍मीर में भारी भ्रष्‍टाचार और बेरोजगारी है. केंद्र सरकार को इन बातों पर फोकस करना चाहिए.

धारा 370 और 35ए पर फारूक अहमद लोन का कहना है कि इनसे जम्‍मू और कश्‍मीर की आवाम को न पहले मतलब था और न आज मतलब है. आज तक हमें इससे कोई लाभ नहीं हुआ है. राज्य से धारा 370 हटने से हमें क्‍या लाभ होगा, यह तो भविष्‍य में ही पता चलेगा. उन्‍होंने कहा कि हमारा यही मानना है कि अंधे तो दो आंखे चाहिए और भूखे तो दो रोटी चाहिए, यही हमारा मुद्दा है.

क़र्ज़ के बोझ तले दबे अनिल अम्बानी के लिए खुशखबरी, चार गुना बढ़ा रिलायंस कैपिटल का मुनाफा

CBDT ने किया बड़ा ऐलान, फर्जी आयकर के मामले में होंगे ये फायदे

रियल एस्टेट सेक्टर में सुधार के नहीं दिख रहे आसार