फ़ारूक़ अब्दुल्ला ने फिर की भारत-पाक बातचीत की वकालत, दिया करतारपुर कॉरिडोर का हवाला

फ़ारूक़ अब्दुल्ला ने फिर की भारत-पाक बातचीत की वकालत, दिया करतारपुर कॉरिडोर का हवाला

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने एक बार फिर भारत और पाकिस्तान के विवादित मुद्दों को बातचीत से हल किए जाने की वकालत की है. मीडिया से वार्ता में करतापुर गलियारे को खोले जाने का स्वागत करते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि यह एक अच्छी शुरुआत है. भारत और पाकिस्तान को इसी तरह से बाकी मुद्दों का भी हल बातचीत से निकाला जाना चाहिए.

कश्मीरी पंडितों के मसले पर फारूक अब्दुल्ला का कहना है कि कश्मीरी पंडितों को अलग बसाने से काम नहीं चलने वाला है. ऐसे तो वे अन्य लोगों से अलग हो जाएंगे. हमारा प्रयास होना चाहिए कि कश्मीरी पंडित वापस आएं और अपने ही घरों में रहें. हमारे साथ रहें, क्योंकि वे पहले भी वो हमारे साथ ही रह रहे थे. वार्ता के दौरान उन्होंने बेबाकी से कश्मीरी पंडितों के मसले पर अपनी प्रतिक्रिया दी.

रविवार को नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता पर हुए गोलीकांड पर फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि NC के सदस्य पर गोली चलाने का प्रयास किया गया. इस गोलीबारी में उनके पुलिस सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई थी. यह पहली दफा नहीं है. आपने देखा होगा कि पुलवामा जिले में भी NC के नेता पर गोली चलाई गई थी, किन्तु गोली उन्हें लगने के बजाय उनके पिता को लग गई थी. केंद्र सरकार को हमारे नेताओं को और अधिक सुरक्षा देनी चाहिए.

कुमारस्वामी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाना चाहती है भाजपा, स्पीकर लेंगे अंतिम फैसला

10 के अलावा 6 और MLA पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, सभी याचिकाएं साथ सुनने की मांग रखी

VIDEO: भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का आपत्तिजनक बयान, कहा- साक्षी से काम के वशीभूत होकर लिया फैसला