घाटी में हालत सामान्य होने के बाद भी जम्मू के पांच जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद ठप परे सारे कामकाज आज यानि सोमवार से चालू होंगें। धीरे-धीरे जनजीवन भी पटरी पर लौट रहा है। सोमवार से शहर के 190 प्राथमिक विधालय खुल रहे हैं। आशा है कि आगे पाबंदियों में और ढील दी जा सकती है। सरकार के प्रवक्ता तथा प्रमुख सचिव रोहित कंसल ने पत्रकारों को बताया कि रविवार को 50 थाना क्षेत्रों में ढील दी गई। ढील की अवधि भी छह घंटे से बढ़ाकर आठ घंटे कर दी गई।

श्रीनगर के कुछ इलाकों और जम्मू क्षेत्र के पांच जिलों- जम्मू, सांबा, कठुआ, रियासी और ऊधमपुर में 2जी इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। हालांकि कुछ क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा चालू है। प्रशासन का कहना है कि उसने यह कदम अफवाहों को रोकने के लिए उठाया है। शुक्रवार रात को प्रतिबंधों में कुछ ढील दिए जाने के बाद श्रीनगर के कुछ क्षेत्रों सहित घाटी के 12 स्थानों पर सुरक्षाबलों और युवकों के बीच झड़प हुई। जिसमें कुछ लोग घायल हो गए हैं। इसके बाद प्रशासन ने श्रीनगर के कुछ हिस्सों में फिर से कड़े प्रतिबंध लगा दिए हैं।

रविवार को हज पर गए 300 यात्रियों का पहला जत्था पहुंचा। उन्हें उनके घर तक पहुंचाने के लिए राज्य की सरकारी बसें उपलब्ध कराई गई। यह जानकारी राज्य के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने रविवार शाम को दी। मुख्य सचिव कंसल ने बताया कि प्रतिबंध हटाने की प्रक्रिया चालू है। राज्य में चार अगस्त की रात से लैंडलाइन, मोबाइल, इंटरनेट को बंद कर दिया गया था। इधर राजनाथ सिंह ने पाक पर निशाना साधते हुए कहा कि अब बात पीओके पर होगी। 

उत्तर प्रदेश: सहारनपुर में दोहरे हत्याकांड से सनसनी, गोबर फेंकने को लेकर हुआ था विवाद

तेलंगाना में टीडीपी को तगड़ा झटका, 60 बड़े नेताओं ने कार्यकर्ताओं के साथ थामा भाजपा का दामन

एक महिला को अपने साथ रखने की कीमत 71 भेड़, जानिए क्या है पूरा मामला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -