3 साल की बच्ची के साथ टॉयलेट में हुआ रेप, जारी है विरोध प्रदर्शन

May 13 2019 01:20 PM
3 साल की बच्ची के साथ टॉयलेट में हुआ रेप, जारी है विरोध प्रदर्शन

आजकल लगातार बढ़ रहे अपराध के मामले सुर्ख़ियों में आ रहे हैं. हाल ही में बारामुला,बांडीपोरा जिले के सुंबल इलाके से भी ऐसी ही दिल दहला देने वाली खबर सामने आई थी. वाहन पिछले हफ्ते एक तीन साल की बच्ची के साथ रेप हुआ और उसके बाद अब बलात्कार के खिलाफ बारामुला जिले में विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है. जी हाँ, आरोपियों के खिलाफ कड़ी सजा की मांग करते हुए बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी बारामुला के हयगाम में इकट्ठे हुए हैं. इसी के साथ श्रीनगर-बारामुला राष्ट्रीय राजमार्ग को कई घंटों के लिए अवरुद्ध कर दिया गया है. मिली जानकारियों के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने प्रदर्शन करते हुए प्रिंसिपल के खिलाफ भी तत्काल कार्रवाई की मांग की जिन्होंने कथित तौर पर आरोपी को नाबालिग घोषित करते हुए एक प्रमाण पत्र जारी किया था.

वहीं इस मामले में इसी बीच बोहरीपोरा और जनरल बस स्टैंड सोपोर में भी विरोध प्रदर्शन किया गया और सोपोर और उसके बाहरी इलाकों में सोमवार को सभी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं जबकि सड़कों पर वाहन भी इक्का दूक्का ही चलते नज़र आए. आप सभी को बता दें कि डिग्री कॉलेज सोपोर और उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के छात्रों ने भी इकबाल बाजार क्षेत्र में इस घटना के विरोध में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है. इस मामले में जम्मू और कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने बोला है कि ''आरोपी को पत्थर मारकर मृत्यु के घाट उतार दिया जाना चाहिए.'' जी हाँ, महबूबा मुफ्ती ने लिखा है, "मैं सुंबल में 3 वर्ष की बच्ची के साथ हुई बलात्कार की घटना सुनकर स्तब्ध हूं. किस तरह की बीमार मानसिकता के लोग ऐसी वारदातों को अंजाम देते हैं .समाज अक्सर ऐसी घटनाओं के लिए कई बार स्त्रियों को जिम्मेदार ठहराता है. लेकिन क्या ये हकीकत में उस मासूम की गलती थी. आज ऐसे वक्त में शरिया कानून के मुताबिक ऐसे कार्य करने वालों को पत्थर मारकर सज़ा-ए-मौत देनी चाहिए.''

क्या है मामला - 3 साल की बच्ची मदरसे से घर लौटी तो वो अपने चाचा को ढूंढने लगी और इसी दौरान पास के मस्जिद से अजान की आवाज़ें आने लगी. इसके बाद मरयम के चाचा अधीन घर से नमाज़ पढ़ने के लिए पास के मस्जिद जाने लगे तो पीछे-पीछे मरयम भी जाने लगी. इसके बाद मस्जिद पहुंचने के बाद अधीन ने उसे घर जाने के लिए कह दिया और बच्ची धीरे-धीरे घर की तरफ जाने लगी. इस दौरान पड़ोस में रहने वाले एक लड़के की नज़र मरयम पर पड़ी और वह चुइगम खिलाने के बहाने मरयम को लेकर सरकारी स्कूल चला गया.

वहीं जब आधे घंटे बाद मरयम घर नहीं लौटी तो उसकी मां जबीना को लगा कि शायद वो अपने चाचा के साथ होगी उसके बाद कुछ देर इंतज़ार किया लेकिन बेटी नहीं लौटी तो माँ अपनी बेटी को ढूंढने निकल पड़ी. वहीं शाम ढलने लगी तो मरयम के चाचा अधीन भी मस्जिद से निकल गए थे. वहीं जबीना को लगा कि शायद उसकी बेटी तालाब के इर्द-गिर्द चली गई होगी और जबीना भागते-भागते स्कूल के पास पहुंची. उसके बाद उन्होंने मरयम को आवाज़ लगाई और कुछ ही पल बाद बच्ची की रोने की आवाज़ आई. इसके बाद मां ने देखा कि बच्ची ट्वाइलेट में थी और उसके शरीर व कपड़ों पर खून के निशान थे. उसके बाद जबीना बच्ची को घर लेकर आई और बच्ची ने पूरी घटना का ज़िक्र किया. उसके बाद बच्ची ने आरोपी को पहचान लिया.

लोन चुकाने के लिए युवक ने महिला को खरीदा और फिर करवाने लगा गंदा काम...

मदरसे से पढ़कर घर लौटी लड़की को नहलाने लगी माँ, देखा कुछ ऐसा कि उड़ गए होश..

नहीं मिला मटन तो रुकवा दी शादी और कर दी दूल्हा-दुल्हन की पिटाई